Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | सितम्बर 10, 2020

2079-यादें


1-रमेश कुमार सोनी

1

यादें गिन्नियाँ 

बच्चों से किलकते
मन रईस ।

2
कौआ पुकारे
यादें लौट आई हैं
कोई आएगा ।

3
उनके गाँव
स्मृति के  बेर मीठे
अश्रु खारे क्यों ?

4
यादें सखी हैं
बतियाने जगाती
रातें भी छोटी ।

5
दिल जो रोके
यादों के घन झूमे
आँखें सावन ।

6
पहचाना क्या ?
यादें जिंदा हो गईं
खुशी रो पड़ी ।

7
सदा रुदाली
अच्छी – बुरी स्मृतियाँ
हाल जो पूछा।

8
प्यार की यादें
युवा वक्त ने लिखा
शब्द गुलाबी ।

9
संधि टूटती
होंठों और आँखों में
स्मृति अँगना।

10
यादें बैसाखी
बुढ़ापे का सहारा
साथ निभाता ।।

11
यादों की बूँदें
आँखों को भिगो गईं
धत सावन ।
0-
रमेश कुमार सोनी ,जे पी रोड – बसना , जिला – महासमुन्द ,छत्तीसगढ़ , पिन – 493554
संपर्क – 7049355476 

-0-

2-पुष्पा मेहरा

1.

सावन–रात

ढूँढता मन, चंदा

यादचकोर

2.

यादें शैवाल

मन के सरोवर

फैली घनेरी।

3.

भोरचिरैया

उड़ मुँडेर आई

चहकीं यादें।

4.

सूनी गलियाँ

गुर्राती बिजुरिया

बरसीं यादें।

5.

थकी है अम्मा

यादें सहेलियाँ आ

हरती पीड़ा।

6.

महके बौर

यादों की झोली भरे

झरे टिकोरे।

7.

वर्षा सौगात

यादों में इंद्रधनु

मन के छोर।

8.

डूबा जहाज

रोती रहीं सुधियाँ

छाया सन्नाटा।

9.

खोली किताब

मुरझाया गुलाब

ताज़ा हो झरा।

10

यादपरिंदे

नित नई डाल पे

नीड़ बनाते।

11.

यादों में बसी

संस्कारों की केंचुली

मन ने छोड़ी।

12.

काँटों से ढकी

ताज़ा ही मिली सदा

यादों की झाड़ी।

-0-

3-मंजूषा मन

1

यादों के पंछी

पलकों की सीप से

मनके चुनें।

2

स्मृति के द्वारे

महकी रात रानी

आँखों में पानी।

3

आँखें बरसीं

जब भी आईं यादें

बीती वो बातें।

4

धो दिया सारा

स्मृति का कैनवास

रंग- बेरंग।

5.

फूटी जब से

याद वाली गगरी

बहें नयन।

6

मुस्कान लाएँ

मधुर यादें तेरी

जब भी आएं।

7

झरे सावन

यादों में हरदम

भीगे ये मन।

-0-

4- डॉ.विभा रजंन   

  1     

ऐ चाँद सुन

ये अंतर व्यथा

तुझसे कहूँ

2

प्रीतम मेरा

मुझसे है बिछड़ा

मन बेचैन

3

बेकल रहें

सुख- चैन हमारे

नहीं है  चैन

4

पागल मन

देखे राह उनकी

बाहें फैला

5

मेरे नयना

राह देखे हैं तेरी

कब आओगे

6

उसके बिना

मेरा जिया ना लगे

जाऊँ हाँ मैं

7

अँधेरी रात

पल जो आते याद

के मन

8

बीते वो दिन

ये चाँद ये सितारे

लगते शूल

9

नीला आसमाँ

मुझपर हँसता

चाँदनी रोती

10

मन उदास

तुम नहीं हो पास

कुछ नहीं

11

संदेशा भेजूँ

मिलन हो जाये

मन हर्षित

12

एक बार ही

मिलने तो आओ

बात तो मानो

13

दरस दे दो

कुछ तो चैन मिले

प्यास बुझे

14

आओगे जब

नयनों में रखूँगी

छोड़ूँगी नहीं

15

साक्षी बनेगी

शुभ्र चाँदनी रात

शुभ मिलन

-0-

डॉ.विभा रजंन (कनक),Dr.Bibha Ranjan, B/37 Around floor ,Soami nager,South Delhi 110017,New Delhi
9911809003
-0-bibha.g3@gmail.com

 -0-

5-अनिता मण्डा

1.

यादें बनैली

आँसुओं की सहेली

रही पहेली

2.

स्मृति-पखेरू

चुग चैन के दाने

छिपे सयाने।

-0-

6-भावना सक्सैना

1

याद नूपुर

रुनझुन बजते

मन बगिया।

2

याद बूँद है

टिकी पात के आगे

हौले से काँपे।

3

स्मृति मधुर

कभी करे विकल

हर्षाए कभी।

4

याद की बूँदे

नयनों की सहेली

बसें कोर पर।

5

बैरन यादें

दौड़ी आएँ आँगन

देख अकेली।

6

यादें जो खिलें

हो मन सुरभित 

फैले सुवास।

7

याद डाकिन

दबे पाँव आती हैं

छीने सुकून।

8

मन आँगन

रोपा एक बिरवा

यादों के फूल।

9

कटी पतंग

लहरा आएँ यादें

डोर के बिन।

10

वृक्ष सघन

यादों के गाँव में

लदे सुमन

-0-


Responses

  1. रमेश कुमार सोनी जी, पुष्पा मेहरा जी, विभा रंजन जी, मन्जूष मन जी, भावना सक्सैना जी यादों पर सुंदर भाव रचे बधाई।

  2. बेहतरीन संकलन
    यादें हाइकुकारों को बधाई

  3. बहुत सुन्दर याद परक हाइकु ।सभी रचनाकारों को हार्दिक बधाई ।

  4. आज तो यादों की ऐसी झड़ी लगी है जो पूरी तरह से भिगो गई और मन हरिया गया।सभी के बेहतरीन हाइकु।।रमेश कुमार सोनी जी,मंजूषा,जी,पुष्पा मेहरा जी,,अनिता जी, विभा रंजन जी,भावना जी सभी हाइकुकारों को हार्दिक बधाई।

  5. यादों के हाइकु ने सबको अपनी आगोश में लिया है । यह सबकी ओर से एक अच्छी समेकित कोशिश है , हाइकु को समृद्ध करने की । किसी भी विषय पर इतना लिखने के बाद भी लिखना बाकी रहा है । संपादक द्वय एवं इस यादें अंक की सभी सुधि रचनाकारों को मेरी हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं ।

  6. यादें विषयक अंक में मेरी अपनी प्रस्तुति पाकर मन धन्य हो गया ,सभी के हाइकु मन के चश्मे से यादों की धारा बन कर निकले हैं , सभी को बधाई एवं मेरी ओर से सम्पादक द्वय का हार्दिक आभार |

  7. यादें गिन्नियाँ….. यादें बनैली…
    वआआह यादों की बेहतरीन फुहारें। सभी को बधाई।
    मेरे शब्दों को पटल पर स्थान देने के लिए सम्पादक द्वय का हृदय से आभार।

  8. सभी हाइकु बहुत ही सुंदर
    आप सभी को हार्दिक बधाइयाँ

  9. यादों में बसे अनेक भावों से सजे ख़ूबसूरत हाईकु हैं सभी रचनाकारों को हार्दिक बधाई ।

  10. वाह वाह ! बेहतरीन हाइकु की बहार, आप सभी रचनाकारों को ढेर सारी बधाई एवम शुभकामनाएँ!!

  11. वाह बहुत ही बेहतरीन हाइकु … एक से बढ़कर एक .. सभी रचनाकारों को बहुत बहुत बधाई

  12. बहुत सुन्दर-मनभावन हाइकु हैं सभी…| आप सभी को ढेरों बधाई…|

  13. यादों पर बहुत सुन्दर पुष्पगुच्छ । भावभीनी खुशबू देते एक से बढ़कर एक यादों के हाइकु । सभी हाइकुकारों को हार्दिक बधाई ।


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

श्रेणी

%d bloggers like this: