Posted by: हरदीप कौर संधु | अगस्त 23, 2019

2040


रचना श्रीवास्तव 

 1

भाई बहन 

लहरों-से निश्छल 

रिश्ता जन्मो का ।

2

भाई है मान 

बहन की सोच का 

सदा के लिए 

3

राखी के धागे 

आशीष बहन का 

ईश्वर-कृपा।

4

बहन  बाँधे 

उम्मीदों का सूरज 

भाई के हाथ।

5

सूनी कलाई 

हाथ बंदूक लिये

सैनिक खड़ा ।

6

रक्षा-कवच 

बहन के लिए है 

राखी का धागा 

-0-


Responses

  1. Bबहुत सुंदर हाइकु बहन आपको बधाई

    On Fri, 23 Aug 2019 at 4:22 AM, हिन्दी हाइकु(HINDI HAIKU)-‘हाइकु कविताओं की वेब पत्रिका’-2010 से प्रकाशित हो रही है। आपकी हाइकु कविताओं का स्वागत है ! wrote:

    > हरदीप कौर संधु posted: “रचना श्रीवास्तव 1 भाई बहन लहरों-से निश्छल > रिश्ता जन्मो का । 2 भाई है मान बहन की सोच का सदा के लिए 3 राखी के धागे > आशीष बहन का ईश्वर-कृपा। 4 बहन बाँधे उम्मीदों का सूरज भाई के हाथ। 5 सूनी > कलाई हाथ बंदूक लिये सैनिक खड़ा । 6 र” >

  2. बहुत सुंदर हाइकु…रचना जी को हार्दिक बधाई !!


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

श्रेणी

%d bloggers like this: