Posted by: हरदीप कौर संधु | जनवरी 23, 2019

1893


1-रचना श्रीवास्तव 

1

पड़े फफोले 

उसकी  देह पर 

पीड़ा में देश

2

देश हमारा 

देता आवाज़ हमें 

कब लौटोगे ?

3

सूना आँगन 

बुझी पीपल छाँव 

तुझे बुलाए 

4

सैनिक चला 

तिरंगे में सजके 

रोया था देश ।

5

ऊँचा मस्तक 

सूर्य सा चमके है 

भारत देश

6

संस्कार– युग 

भारत में बसा है 

ढूँढो तो  सही।

-0-

Rachana Srivastava
Freelance writer and Poet
Los Angeles, CA,
http://rachana-merikavitayen.blogspot.com/

 -0-

2-साँझ के हाइकु – रमेश कुमार सोनी

साँझ महके 

प्रिया -जूड़े में फँसा

पिया को ताके ।

साँझ पुकारे 

सूर्य शर्म से लाल 

चाँद जो झाँके ।

साँझ का सूर्य 

बूढ़े की सुनो कोई 

देर क्यों हुई

रातें डरातीं

प्रभु भजने लगी 

संध्या की ज्योति। 

साँझ का मन 

थका , बुझा, रूठा -सा 

पार्टी हो जाए ।

साँझ का गीत 

मन चाहता मीत 

बढ़ा लें प्रीत ।

अच्छा दिन था 

साँझ खुशी से लौटा 

कल की चिंता ।

लोग लौटते 

संध्या विदा करके 

थके सो गए ।

-0-

रमेश कुमार सोनी , बसना , छत्तीसगढ़ 

rksoni1111@gmail.com 

Advertisements

Responses

  1. रचना जी के हाइकु में दर्द की अभिव्यक्ति है।
    रमेश जी ने साँझ को विविध रंग दिए।
    बधाई

  2. Ramesh ji loog loutte Wala haiku kamal ka hai sabhi haiku bahut hi sunder hai
    Rachana

  3. रचना जी एवं रमेश जी आप दोनों के हाइकु बढ़िया

  4. दोनों रचनाकारों ने अपने हाइकु में अपनी विशिष्ट शैली प्रस्तुत की है । सुन्दर अभिव्यक्ति । बधाई ।

  5. रचना जी की रचना पढकर देश की वर्तमान स्थिति का चित्र देखने को मिला | बहुत ही गम्भीर समस्या है देश की | देश की याद आ गयी | आपको बधाई ! देश प्रेम के लिए -श्याम हिंदी चेतना
    रमेश जी रचना में अपना नया रंग है श्रंगार की झलक है | अति सुंदर -श्याम हिन्दी चेतना

  6. रचना जी एवं रमेश जी आप दोनों के हाइकु बहुत सुन्दर … हार्दिक बधाई !!

  7. रचना श्रीवास्तव के हाइकु राष्ट्रीयता के भाव के सशक्त हाइकु हैं,वहीं रमेश सोनी जी के हाइकु संध्या के विविध रूपों की मनोहर अभिव्यक्ति हैं।दोनों रचनाकारों को हार्दिक बधाई।

  8. रचना जी इतने मर्मस्पर्शी हाइकु के लिए दिल से बधाई…|
    सांझ पर केन्द्रित रमेश जी के हाइकु बहुत मनभावन लगे, बधाई…|

  9. बहुत ही सार्थक , मन को छूते हाइकु ।
    हार्दिक बधाई रचना जी , रमेश जी ।

  10. बहुत ही सार्थक , मन को छूते हाइकु ।
    हार्दिक बधाई रचना जी , रमेश जी ।

  11. आप सभी को मेरे हाइकु अच्छे लगे इसके लिए आप सभी को धन्यवाद।
    भविष्य में कुछ और नए विषयों पर लिखने का प्रयास करूँगा ।
    प्रणाम ।
    रमेश कुमार सोनी, बसना , छत्तीसगढ़
    7049355476

  12. आपका प्यार
    लिखने की प्रेरणा
    देता है सदा
    thanks
    rachana

  13. रचना जी, रमेश जी, बैहतरीन हाइकु।

  14. रचना जी एवं रमेश जी को सुन्दर हाइकु हेतु हार्दिक बधाई

  15. रचना जी एवं रमेश जी को भावपूर्ण हाइकु सृजन के लिए बधाई.

  16. रचना जी और रमेश जी के अत्यंत सुन्दर हाइकु पढ़कर प्रेरणा मिली |बढ़िया रचना है दोनों रचनाकारों को हार्दिक बधाई |


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: