Posted by: डॉ. हरदीप संधु | नवम्बर 29, 2017

1813


1- डॉ.मीता अग्रवाल

1

भोर होते ही

आशियाना ढूँढ़ते

बेघर सारे।

2

रात होते ही

जुगनू चमकते

तारो के जैसे।

3

सन्नाटा बुने

झींगुर साँय- साँय

मनवा कॉपे।

4

मै ना बोंलूगी

जान पे खेलकर

संग हो लूगीं।

5

 वक्त के साथ

मिट जाते अक्सर

घाव गहरे।

6

मिलन संग

प्रीत की गहराई

मापी ना जाए।

7

मरते दम

सुन्दरता तुम्हारी

नैन बसाऊँ।

8

 मृत्युपर्यन्त

छूटते ना बंधन

संसार काया।

-0- श्री कमल भवन , पुरानी बस्ती, लोहार चौक, रायपुर,छतीसगढ़ 492001

meetaagrawalrpr@gmail.com

-0-

 2-सुशील शर्मा

1

हजार दु:ख

सहती हैं नदियाँ

बहती रहीं।

2

सूखती नदी

करती हैं सवाल

मुझे क्यों मारा।

3

घटती रेत

मरती हुई नदी

बनी है सोख्ता।

4

एक थी नदी

आने वाली पीढ़ियाँ

सुने कहानी।

5

बचा लो नदी

वरना न बचेगी

आगे की सदी।

6

कटता पेड़

लगता है अपना

कोई मरा है।

7

विकास पथ

नदी बनी मैदान

कॉलोनी कटी।

8

मेरा शहर

हाथ लिये आरी

छाँव तलाशे।

9

एक चिड़िया

पेड़ के ठूँठ पर

नीड़ में बैठी।

-0-

Advertisements

Responses

  1. बहुत सुन्दर

  2. डॉ मीता अग्रवाल जी आपके मिले जुले भावों में रचे सभी हाइकु अच्छे लगे | सुशील जी आपके भी सभी हाइकु उत्तम हैं विशेषकर “बचा लो नदी/ वरना ना बचेगी / आगे की सदी | सन्देश देता हुआ हाइकु है | आपदोनो को हार्दिक बधाई |

  3. मीता जी एवं सुशील जी को हार्दिक बधाई सुन्दर हाइकुओं हेतु।

  4. सुन्दर ,सामयिक हाइकु !
    दोनों रचनाकारों को हार्दिक बधाई !!

  5. भोर होते ही
    आशियाना ढूँढ़ते
    बेघर सारे।
    डाॅ. मीता अग्रवाल जी को प्रकृति की सुन्दर हाइकु रचना के लिये हार्दिक बधाई ।

    बचा लो नदी
    वरना न बचेगी
    आगे की सदी।

    सुशील जी ने ‘ नदी के अस्तित्व की चिन्ता को लेकर’ पर्यावरण – विनाश जैसे गंभीर विषय पर बेजोड़ हाइकु रचे । उन्हें बधाई ।

  6. बहुत सुंदर हाइकु.. आप दोनों को हार्दिक बधाई ।

  7. बहुत खूबसूरत हाइकु मीता जी तथा सुशील जी को हार्दिक बधाई !

  8. बहुत बेहतरीन हाइकु…आप दोनों को बधाई…|


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: