Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | नवम्बर 25, 2017

1812


1-साँझ के हाइकु – रमेश कुमार सोनी

साँझ महके

प्रिया जूड़े में फँसा

पिया को ताके । 

2

साँझ पुकारे

सूर्य शर्म से लाल

चाँद जो झाँके । 

3

साँझ का सूर्य

बूढ़े की सुनो कोई

देर क्यों हुई ?

4

साँझ का मन

थका , बुझा ,रूठा -सा

पार्टी हो जाए । 

5

रातें डराती

प्रभु भजने लगी

संध्या की ज्योति । 

6

साँझ का गीत

मन चाहता मीत

बढ़ा लें प्रीत । ।

7

अच्छा दिन था

साँझ खुशी से लौटा

कल की चिंता !!

8

लोग लौटते

संध्या विदा कर के

थके सो गए । 

9

साँझ बताती

अँधेरों का गुनाह

घर लौटिए । 

10

भोर का भूला

घर लौटता रवि

संध्या की बेला । 

-0-जे पी  रोड – बसना , जिला – महासमुंद

[ छत्तीसगढ़ ] 493554 , मोबा – 9424220209

-0-

2-विभा रश्मि

1

मन का बच्चा 

कूद फाँदके थका 

लोरी सुनेगा ।

2

तोतों के झुंड 

नभ नापने उड़े

समूह-गान । 

3

घूँघट काढ़े 

न अब गाँव- गोरी

घुड़सवारी  । 

4

सफ़ेद भेड़ें

पहाड़ियाँ टपतीं 

ऊन ले भागीं ।

5

जलद सजे 

रँगे  खिज़ाब -केश

श्याम औ  श्वेत ।

6

अतिथि देवो  

प्रवासी ये  परिन्दे

झील नहाएँ  ।

7

उफ़्फ़  !  ये स्मॉग

धुनिया है धुनता 

मैली -सी रूई ।

9

हुई झंकृत

वीणा स्वर लहरी

दिल के हाथों ।

 -0-

3-कमला घटाऔरा
1
कैसा ये बीज
बिन बोए ही उगती
भ्रष्टों की पौध ।
2
ग्रहण लगा
ग्रस्त हुई है धरा
करो रे दान ।
3
बचा न धर्म
लोभ- पाश जकड़े
जन-जीवन ।
4
सोए , जागे न
नेता ले सुविधाएँ
कर्म से भागे ।
5
गिद्द दृष्टि से
रहते ताक लगा
फैले लुटेरे ।
-0-

Advertisements

Responses

  1. बढ़िया हाइकु …हार्दिक बधाई !

  2. रमेश जी, कमला जी एवँ विभा जी के हाइकु मनभावन है ।आप सभी को हार्दिक बधाई!

  3. रमेश सोनी जी के साँझ महके के अंतर्गत खूबसूरत हाइकु , , कमला जी का सुन्दर सृजन । बहुत सारी बधाई स्वीकरें ।

    मेरे हाइकु – गुच्छ को स्थान देने के लिये बहन हरदीप संघु व हिमांशु भाई का दिल से आभार ।

  4. अलग अलग भावों वाले ये सभी हाइकु बेहद सरस है…| आप सभी को बहुत बधाई…|


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

w

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: