Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | अक्टूबर 7, 2017

1800


    ‘किलकारी’बिहार बाल भवन, शिक्षा विभाग बिहार सरकार की एक संस्था है। यहाँ बच्चों के साथ सृजनात्मक लेखन से संबंधित कार्यक्रम संचालित किए जाते हैं। बच्चों ने कुछ  हाइकु लिखे हैं।किलकारी’ बिहार बाल भवन से जुड़ी संगीता दत्ता जी ने कई छात्रों के हाइकु भेजे हैं। उनमें से 4 छात्रों के हाइकु प्रकाशित कर रहे हैं। अन्य के हाइकु भी शीघ्र  प्रकाशित किए जाएँगे।

सम्पादक द्वय

1- अभिनंदन गोपाल,संत जेवियर्स स्कूल,वर्ग- 8

1      

काँटों के पार,

देखोगे तो मंजिल,

आती नज़र।

2      

बड़ा सुहाना,

है मौसम , तो करें,

हम मस्तियाँ

3      

हँसी हमेशा,

रखो इन ओठों पे,

फूलों-सी तुम

4      

कोई कविता,

मन में बस जाती,

होती है ऐसी।

5

 शरारतें तो

आखिर करेंगे ही,

बच्चे हैं हम।

चाँद उजला,

 कौन सी क्रीम यह,

लगाता भला !

जीवन बोया,

मुरझा गया अब,

वो तरुवर

8

 प्रभु को ढूँढ़ा,

 मैं जहाँ-जहाँ पे मैंने

 मुझे माँ दिखी।

9

इस मन को

 न बाँधों, करने दो,

 कल्पना नई

10

बनाया घर,

पर खुद को घर

 नसीब नहीं  

-0-

2- रौशन पाठक,संत कोलम्बस वर्ग- 8

1

कलम ही है

 हथियार हमारा

 इसे न छोड़ो

कोमल मिट्टी

 हर रूप है लेती

 उसका गुण ।

3

माँ का सपना

अच्छा इंसान बनूँ

 पूरा करूँगा ।

सम्मान करूँ

अपने बड़ों का मैं

 पाऊँगा प्यार।

5

 किताब मेरी

 सुनहरे रंग की

 मैं तो पढूँगा।

शिक्षा जरूरी

हम सबको मिले

 खुशियाँ बढ़ें।

कोरा कागज

और कलम मेरी

 हैं जिंदगानी ।

8  

सब दु:ख तो

हैं जीवन के अंग

लड़ेंगे संग।

जम़ी के रंग

उतारेंगे अपने

दिल में हम ।

-0-

3- अतुल रॉय,संत रवीन्द्र भारती चिद्यालय,वर्ग- 10

 

वो भूल गए

जैसे पतझड़ की

टूटी पत्तियाँ

ज़िन्दगी नदी

सुख-दुख के बीच

बहती सदा ।

हमारी बातें

माँ सब जान जाती

 न जाने कैसे

ख्वाबों के पर

 टूटते ही रहते

 बुलबुले– से

कैसी दुनिया

कहे बेटा बाप से

मेरा राज है

है छाई घटा

 बिजुरी चमकती

 बिखेरे छटा

7

 जन बदले

किलकी किलकारी

बेटी होने पे

-0-

4-    सम्राट समीर,    सर जी- डी- पाटलीपुत्र स्कूल,    वर्ग- 10

1

ओ री चिड़िया

 मैं उडूँ- संग तेरे

खुली हवा में

2  

सोच रहा हूँ

कुछ नया करूँ मैं

फूलों  के जैसा ।

3  

कोयल काली

हिली पेड़ की डाली

है मतवाली

4

मैं नन्हा बच्चा

पर दिल का हूँ मैं

बड़ा ही सच्चा

5

मुलाकात हो

नई शुरूआत हो

कुछ बात हो

6

मैं मूर्ख बना

दोस्तों को भी बनाया

मज़ा है आया

क्या नज़ारा है

आज ये मौसम तो

बड़ा प्यारा है

8

पेड़ों की छाँव

 याद आता है मुझे

 प्यारा वो गाँव

9

बारिश हुई

खुश हुए किसान

लौटी मुस्कान

10

पानी बचाओ

प्रकृति को फिर से

ताज़ा बनाओ

11

लड़के बोले

पेड़ो में लग गए

  अब टिकोले

-0-

Advertisements

Responses

  1. ये तो सब एक से बढ़ कर एक है ।
    बहुत बहुत सुंदर
    बहुत बहुत आशीष इन बच्चों को।

  2. अतुल राय, अभिनंदन गोपाल,रौशन पाठक ,सम्राट समीर प्यारे बच्चो आप सबको शुभाशीष..आप सबने बहुत सुंदर सार्थक हाइकु लिखे । पढ़कर बहुत अच्छा लगा..ऐसे ही लिखते रखिए ।

  3. सभी बच्चों ने बहुत सुन्दर हाइकु लिखे हैं. अभिनन्दन, रौशन, अतुल और सम्राट को सुन्दर सृजन के लिए ढेरों बधाई और शुभाशीष!

  4. एक से बढ़कर एक हाइकु पढ़ने को मिले । सभी बच्चों ने बहुत ही सुन्दर हाइकु रचे हैं । आशा करते हैं कि भविष्य में भी इसी तरह से इन सभी के हाइकु पढ़ने का सुअवसर प्राप्त होगा । सभी को बहुत बहुत अभिनन्दन ।

  5. हमारे भावी कलमकार । आप सभी को ढेरों साधुवाद । सभी हाइकु एक से बढ़कर एक।
    माँ सरस्वती सदा आपकी कलम को नए भावों से भरती रहे ।
    बहुत बहुत बधाई दिल से ।

  6. बहुत सुंदर हाइकु!! प्रतिभा का उदीयमान सूर्य सदा चमकता रहे |
    पुष्पा मेहरा

  7. बालपन से किशोरावस्था को जाती इन सारी कलमों ने अपनी भावनाओं का ये खूबसूरत संसार हमारे सामने रख दिया…| हर हाइकु पढ़ के ये साबित हो गया है कि ये बच्चे भले हैं, पर लेखनी में कच्चे नहीं…| बहुत ढेर सारी शुभकामनाओं और आशीषों के साथ बहुत बहुत बधाई…| तुम सब ऐसे ही खूब अच्छा लिखते हुए बहुत उन्नति करो…|

  8. बहुत ख़ूबसूरत आप सभी बच्चों के हाइकु। यूँही लिखते रहिए। बहुत-बहुत बधाई, शुभाशीष।

  9. बच्चों ने बहुत सुन्दर सार्थक हाइकु दिये हैं ।अभी से हाइकु छंद की इतनी समझ स्वागत योग्य है ?

  10. अति प्रशंसनीय

  11. किलकारी के सभी बच्चों की रचनाओं का दिल से स्वागत है| नन्ही लेखनी की ऊँची उड़ान| सम्राट समीर मेरा छात्र रह चुका है और उसे यहाँ देखकर खुशी हुई|
    बधाई सभी नौनिहालों को और आभार यहाँ शेयर करने के लिए|

  12. बड़ी सोच लिए इन नन्हें कलमकारों को खूब-खूब बधाई ..ढेरों शुभकामनाएं !
    प्रिय अतुल रॉय, अभिनंदन गोपाल, रौशन पाठक, सम्राट समीर शुभाशीष !!

  13. बच्चो बहुत सुन्दर प्रयास । बस कलम चलती रहे ।शुभ आशीष और बधाई ।


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: