Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | अप्रैल 26, 2017

1760


1-प्रीति सुराना

1

बने घरौंदा-

तिनके जुड़कर,

अकेले हम।

2

बरसा पानी-

बह गई फसलें,

भूखी धरती।

3

खुली दरारें-

सूखी धरती पर,

फटी एड़ियाँ

4

सूखी टहनी,

पतझड़ ऋतु में-

भटके पंछी।

5

अकाल मृत्यु,

छाया धरती पर-

जलसंकट।

6

नई किरण,

मेहनत की बेला-

भोर हो गई।

7

घना अँधेरा,

अब डरना कैसा-

सुबह होगी।

8

कोई टूटे तो

मत माँगना मन्नत-

भोर का तारा।

9

टूटी कलम 

कर्म ही लिखते हैं-

भाग्य का लेख।

10

जैसी करनी-

वैसे ही कर्मफल,

चुभते काँटे।

11

सूखी धरा से

उगेगी भुखमरी 

जल बचाओ।

12

नींव में भूल-

भवन में दरारें,

नी उजड़ा।

-0-

प्रीति समकित सुराना,15 नेहरू चौक,वारासिवनी (मप्र)-481331

-0-

2-रमेश कुमार सोनी ,बसना [ छत्तीसगढ़ ]

1

पानी ढूँढते

पानीपानी हो गए

पानी पूछिए

2

आग लगी है

चलो कुआँ खोद लें ?

पानी खरीदो

3

शहरी कोठी

कैद हुआ झरना

गाँवों में प्यासा

4

पानी सुस्ताते

प्याऊ की छाँव बैठे

प्यास ताकते

5

बंद कीजिए

मटका फोड़ स्पर्धा

पानी रोता है

6

अंत समय

पानी पुकारे लोग

पुराना रोग

7

पानी की ट्रेन

कभी मत ताकि

वर्षा बचा लें

8

ऐ पानी वालों

पानी बचाना सीखो

जंग ना छेड़ो

9

कैसे करोगे 

आचमन , संकल्प ?

जल पूछते

10

पानी जानती

सभ्यता की कहानी

जनता भूली

12

नीर से  पीर

पशुपक्षी भोगते

पेड़ बचाते

13

जलजले में

जल ही जल होगा

गर्मी बढ़ी है

-0-

Advertisements

Responses

  1. सभी हाइकु बहुत उम्दा प्रीति जी,रमेश जी सभी हाइकु सार्थक और सुंदर…हार्दिक बधाई आप दोनों को ।

  2. बहुत सुंदर हाइकु प्रीति जी रमेश जी —ढेरों बधाई।संपादक द्वय जी आपके प्रस्तुतिकरण के रंग निराले हैं आपको भी बधाई।

  3. बहुत सुन्दर , सामयिक , सार्थक हाइकु !
    दोनों हाइकुकारों को हार्दिक बधाई !!

  4. बहुत सुन्दर हाइकु…ढेरों बधाई…|

  5. बहुत सुन्दर सभी हाइकु।
    प्रीती जी, रमेश जी बहुत बधाई।

  6. बहुत सुन्दर तथा सामयिक हाइकु !!
    दोनों हाइकुकारों को हार्दिक बधाई !!


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: