Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | अप्रैल 15, 2017

1751


1-ज्योत्स्ना प्रदीप

1

 भोली चिरैया 

रह गई है तन्हा 

हाय रे दैया !

 2 

नभ हैरान 

टहनी भी है सूखी 

पिक न कूकी ! 

3

 राग विहाग

 गा ना वनप्रिय 

भरा ह्रदय । 

4

 कहाँ हैं रंग 

ऋतुराज का छल 

सोचे विहंग !

ऊँचे मकान

मेरा नहीं रे ठौर 

पाते न बौर

6

पखेरू मौन

 ले गया हरियाली 

जाने रे कौन?

-0-

2-अनिता मण्डा
1.
सूनी शाखों पे
आये फिर बहार
आ जाओ साथी

2.
फूटी कोंपल
भूली पतझड़ को
खाली डालियाँ
3.
सूनी डालियाँ
कहाँ बने आशियाँ
सोचे गौरैया।

-0-

Advertisements

Responses

  1. बहुत सुंदर हाइकु ज्योत्स्ना जी. अनिता मण्डा जी बधाई।

  2. सभी हाइकु
    बहुत बेहतरीन
    लिखा आपने

  3. प्यारे हाइकु के लिए बहुत बधाई…|

  4. बहुत प्यारे हाइकु !
    सखी ज्योत्स्ना प्रदीप जी एवं प्रिय अनिता मण्डा को
    भावपूर्ण सृजन की हार्दिक बधाई 💐💐

  5. प्राकृतिक बिंब को दृश्यमान करते भावपूर्ण हाइकु !!

  6. प्रकृति विनाश के परिणाम को आधार बनाते हुए आशावादिता को भी संबल बना लिखे गए हाइकु हेतु ज्योत्स्ना व अनिता जी को बधाई |
    पुष्पा मेहरा

  7. आद. भैया जी एवं बहन हरदीप जी का हार्दिक आभार
    मेरे हाइकु को यहाँ स्थान देने के लिए !

    प्रिय अनिता ….बहुत प्यारे हाइकु !

  8. ज्योत्स्ना जी , अनीता जी बहुत ही अच्छे हाइकु लिखे हैं आपने। बधाई

  9. अनीता जी,ज्योत्सना जी..उम्दा

  10. ऊँचे मकान
    मेरा नहीं रे ठौर
    पाते न बौर ।

    भावनाओं का सुंदर वितान रचा आपने ज्योत्स्ना जी।

    हार्दिक आभार मेरी रचना पसंद करने हेतु।


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: