Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | फ़रवरी 2, 2017

1722


1-डॉ जेन्नी शबनम

1.

सूरज जागा

आँख मिचमिचाता

छटा बिखरी। 

2.

घना कोहरा

सूरज पर छाया

एक न सुना। 

3.

धुँध गहरी

सूरज भूला रास्ता

देह ठिठुरी। 

4.

देर से जागा

जाड़े से अलसाया

सूरज ठंडा। 

5.

ठंड से हारा

हुआ नतमस्तक

प्रतापी सूर्य। 

-0-

2-अनिता मण्डा

1
नव कोंपल
मुस्काए डाली पर
आया वसंत।
2

छाया: काम्बोज

छाया: काम्बोज

प्रकृति पाए
ऋतुपति का प्यार
झूमे बहार।
3
अल्हड़ चैत
बहें पुष्प-झरने
रंग-बिरंगे।
4
लाई महक
बसंत की आहट
सिकुड़ी रातें।
5

छाया: काम्बोज

छाया: काम्बोज

रंग-सुराही
फूलों पर उड़ेली
महक़ी हवा ।
6
हरा गलीचा
फुलवारी- क़सीदा
क्या ख़ूब सज़ा !

-0-

Advertisements

Responses

  1. Bahut sundar haiku aap dono ko badhai

    On Feb 1, 2017 7:46 PM, “हिन्दी हाइकु(HINDI HAIKU)-‘हाइकु कविताओं की वेब
    पत्रिका’-2010 से प्रकाशित हो रही है। आपकी हाइकु कविताओं का स्वागत है !” wrote:

    > रामेश्वर काम्बोज ‘हिमांशु’ posted: “1-डॉ जेन्नी शबनम 1. सूरज जागा आँख
    > मिचमिचाता छटा बिखरी। 2. घना कोहरा सूरज पर छाया एक न सुना। 3. धुँध गहरी
    > सूरज भूला रास्ता देह ठिठुरी। 4. देर से जागा जाड़े से अलसाया सूरज ठंडा। 5.
    > ठंड से हारा हुआ नतमस्तक प्रतापी सूर्य। -0- 2-अनि”
    >

  2. ठंड और बसंत आगमन के सभी हाइकु अपनी अपनी विशेषता जताते उत्तम है ।रचना कारों को हार्दिक बधाई

  3. जैनी जी गहन अनुभूति युक्त हाइकु।
    आभार संपादक द्वय मुझे यहाँ स्थान देने हेतु।

  4. जेन्नी जी ‘अनीता जी आप दोनों को हार्दिक बधाई
    सभी हाइकु बहुत सुंदर

  5. ठंड और वसंत पर बहुत सुंदर हाइकु …
    डॉ. जेन्नी जी और अनिता जी को हार्दिक बधाई !

  6. winter and spring is captured beautifully. Congratulations to both!!

  7. बसंत आगमन पर बहुत सुंदर हाइकु …
    डॉ. जेन्नी जी और अनिता जी को हार्दिक बधाई !

  8. प्रिय अनिता मंडा जी व जेन्नी शबनम जी के प्रकृति पर लिखे सभी हाइकु भनभावन हैं । सर्दी व बसंत ऋतु के सुन्दर हाइकु के लिये बहुत-बहुत बधाई आप दोनों को ।
    सनेह विभा रश्मि

  9. बहुत सुंदर हाइकु …
    डॉ. जेन्नी जी और अनिता जी को हार्दिक बधाई !

  10. बहुत सुन्दर हाइकु जेन्नी जी, अनिता जी आप दोनों को बहुत बधाई।

  11. बहुत सुन्दर हाइकु, डॉ. जेन्नी शबनम जी एवं अनीता मंडा जी को हार्दिक शुभकामना एवं बधाई

    डॉ. कविता भट्ट

  12. सर्दी व बसंत ऋतु के सुन्दर हाइकु के लिये डॉ. जेन्नी शबनम जी एवं अनीता मंडा जी को हार्दिक बधाई !!!

  13. जेन्नी जी सूरज के आगमन पर लिखे सुन्दर हाइकु हैं |अनीता जी बसंत ऋतु पर अनोखी छटा बरसाते मनभावन हाइकु हैं आप दोनों को इस रचना पर हार्दिक बधाई |

  14. ठण्ड और बसंत पर दोनों रचनाकारों के सुन्दर हाइकु 👍

  15. ऋतुओं की छटा बिखराते हाइकु एक से बढ़कर एक … सभी को बधाई


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: