Posted by: डॉ. हरदीप संधु | जनवरी 22, 2017

1716


1-डॉ सुधा गुप्ता 

1

दु:ख ने माँजा

आँसुओं ने धो डाला 

मन उजला 

2

सुख राई -सा 

दुखों के परबत

ढोए जीवन 

3

तुम जो मिले 

गूंगी व्यथा क्या बोले 

मौनाश्रु झरे 

4

पौष पूर्णिमा 

बर्फ में नहाकर 

चाँद क्यों पीला ?

5

माघ की हवा 

ज़ालिम तीरंदाज़ 

सृष्टि घायल ।

-0-20.01.2016

 -0-

2– शशि पुरवार 

1  

छूटे संवाद 

दीवारों पे लटके 

वाद -विवाद। 

 

मौन पैगाम 

खनके बाजूबंद 

प्रिय का नाम। 

3

काँच से छंद 

पत्थरों पे मिलते 

 बिसरे बंद ।

4

सूखें हैं फूल 

किताबों में मिलती 

प्रेम की धूल। 

5

मन संग्राम 

बतरस की खेती

सिंदूरी शाम  ।

6

वफ़ा का मोल 

सहमे तटबंध 

तीखे से बोल ।

7

प्रेम भूगोल 

सम्मोहित साँसे 

दुनिया गोल ।

8

आँसू , मुस्कान 

सतरंगी जिंदगी 

नहीं आसान। 

9

 लिक्खें तूफान 

 तकदीरों की बस्ती 

अपने नाम 

-0-

Advertisements

Responses

  1. सुख राई -सा
    दुखों के परबत
    ढोए जीवन ।
    कितनी सुन्दर बात कह दी…| आदरणीया सुधा जी के हाइकु तो हमेशा ही मुग्ध कर जाते हैं…| हार्दिक बधाई…|

    शशि जी के भी सभी हाइकू बहुत अच्छे हैं…| ख़ास तौर से ये
    लिक्खें तूफान
    तकदीरों की बस्ती
    अपने नाम
    मेरी बधाई…|

  2. डॉ सुधा गुप्ता जी ईश्वर आपको सदा स्वस्थ रखे और हमें आपका लेखन ऐसे ही पढ़ने को मिलता रहे ..बहुत शानदार हाइकु आदरणीया
    सुख राई -सा
    दुखों के परबत
    ढोए जीवन ।
    हार्दिक बधाई आपको

  3. आँसू , मुस्कान
    सतरंगी जिंदगी
    नहीं आसान।
    शशि पुरवार जी बहुत सुंदर हाइकु हार्दिक बधाई आपको

  4. आदरणीया सुधा जी,कितनी सही बात कही – दु:ख ने माँजा /आँसुयों ने धो डाला /मन उजला ।आप के सभी हाइकु दिल में अपनी छाप छोड़ जाते हैं ।आप हमेशा स्वस्थ रहकर यूँही हमें अपनी लेखनी से झरते रस का पान कराती रहें । प्रभु से यह प्रार्थना के साथ सुन्दर लेखन की आप को वधाई ।
    शशि पुरवार जी बहत सुन्दर लिखा – मौन पैगाम /खनके बाजूबंद /प्रिय का नाम ।तथा यह वाला भी – लिक्खे तूफान / तकदीरों की बस्ती / अपने नाम । बहुत सारी वधाई ।

  5. दु:ख ने माँजा
    आँसुओं ने धो डाला
    मन उजला ।
    आ. सुधा दी आपका स्वागत है । बहुत प्यारे – संजीदा हाइकु हैं सभी ।
    बहुत बधाई ।

    सूखें हैं फूल
    किताबों में मिलती
    प्रेम की धूल।
    प्रिय शशि जी बहुत सुंदर हाइकु रचना ।बधाई लो ।
    सस्नेह विभा रश्मि

  6. दुख ने माजा । सुख. राई सा । वाह! क्या बात है ! सुरेन्द्र वर्मा ।

  7. आदरणीया सुधाजी व शशि पुरवारजी के उत्कृष्ट हाइकु ।बहुत-बहुत बधाई

  8. सर्वप्रथम हाइकु परिवार का ह्रदय से शुक्रिया, लंबे समय बाद पुनः परिवार में शामिल होना सुखद प्रतीत हो रहा है। आ. कम्बोज भाईसाहब , आ हरदीप जी का ह्रदय से धन्यवाद।

    आ. सुधा दीदी को प्रणाम बहुत सुन्दर हाइकु हैंहार्दिक बधाई आपके स्वस्थ होने की कामना करती हूँ

    प्रियंका जी , सुनीता जी, विभा जी, कैलाश जी, कमला जी आप सभी का ह्रदय से धन्यवाद। आपने अनमोल समय देकर उर्ज्वसित करती हुई प्रतिक्रिया से हमें स्नेह प्रदान किया। तहे दिल से आभार

  9. आ. हरदीप जी , आ कम्बोज भाईसाहब प्रणाम। आपकी शिकायत नाराजगी सिर आँखों पर , सहमत हूँ एक वर्षो से समय नहीं दे सकी इसका कारन मेरा स्वास्थ है, मैं अपने ही शरीर से लड़ रही थी व हूँ मेरा लेखन भी उससे प्रभावित हुआ है, एक वर्ष से लेखन लगभग नहीं के बराबर हुआ है , मेरा हाथ व शरीर का सीधा भाग शून्य हो जाता था हाथ कंधे सूजन व दर्द से भरे हुए फ्रीज़ हो जाते है , वर्टिगो भी यही कारन से हो गया है। डॉक्टर ने कार्य करने हेतु मना कर दिया, औषधि भी दर्द कम करने में असफल है, लेकिन उत्साह के कारण मन नहीं मानता व मन को ऊर्जा देने हेतु यहाँ आती हूँ , सभी जगह से अनुपस्थित रही हूँ। परिवार को प्राथमिकता दी है। व स्वयं से लड़ाई अनवरत जारी है , ज्यादा टाइप नहीं कर सकने के कारन परेशानी होती है। प्रयास करुँगी आती रहूँ , आपको सत्य से अवगत कराती हूँ कि यह लिखने में भी मुझे आधी घंटा लगा दर्द जैसे चीर रहा है ,– लेखन से जुडी रहूंगी प्रयास करुँगी 😦 स्नेह बनाये रखें – सादर। छोटी बहन शशि पुरवार

  10. आदरणीया डॉ सुधा गुप्ता जी , जीवन को प्रेरक भाव से सीचता है आपके सभी हाइकु विशेषकर
    दु:ख ने माँजा
    आँसुओं ने धो डाला
    मन उजला ।
    अपना ख्याल रखिएगा । सादर नमन ।

  11. आँसू , मुस्कान
    सतरंगी जिंदगी
    नहीं आसान।
    दर्द के सफर पर आप हौसलों के जहाज पर सवार होकर आज फिर उम्दा हाइकु लायीं हैं आपको बधाई सादर नमन । अपना ख्याल रखिएगा आदरणीया शशि जी।

  12. आदरणीय सुधा जी, शशि जी, सभी हाइकू एक से बढ़कर एक हैं। बधाई।

    शशि जी, ईश्वर से प्रार्थना है आप शीघ्र स्वस्थ हों।

  13. दु:ख ने माँजा
    आँसुओं ने धो डाला
    मन उजला । आदरणीया सुधा जी के सभी हाइकु बहुत अच्छे लगे | यह हाइकु विशेष छू गया | उन्हें पढ़ कर सदा ही कुछ नया सीखने को मिलता है |

    शशि पुरवार जी,
    लिक्खें तूफान
    तकदीरों की बस्ती
    अपने नाम — बहुत खूब | आप जल्दी ठीक हो जाएँ , प्रभु से यही प्रार्थना है |
    सस्नेह,
    शशि पाधा

  14. सुख राई -सा
    दुखों के परबत
    ढोए जीवन । …..बेहद सुन्दर हाइकु आ० सुधा जी…. हार्दिक बधाई।

    आँसू , मुस्कान
    सतरंगी जिंदगी
    नहीं आसान।….बहुत सही कहा शशि जी…. हार्दिक बधाई।

  15. सर्वप्रथम मैं आदरणीय सुधा दीदी के स्वस्थ शरीर सहित दीर्घ जीवन की कामना करती हूँ,, उन्होंने बिलकुल ठीक लिखा है -सुख राई सा \ दुखों के परबत \ ढोए जीवन | शशि जी का हाइकु भी जीवन की असलियत बताता उसके बदलते सतरंगी रूपों से पर्दा उठा रहा है | आ. सुधा दीदी की लेखनी निर्बाध गति लिए रहे और प्रिय शशि जी भी पूर्ण स्वस्थ रहें यही
    कामना है | पुष्पा मेहरा

  16. Sudha ji aap ko padhna Bahut hi achchha lagta hai aap sada theek rahen yahi Bhagvan SE prarthna hai
    Shashi ji aap itni pareshan hain pata hi nahi tha Bhagvan kare aap jaldi theek ho jayen
    Rachana

  17. सभी हाइकु सुन्दर हैं। आदरणीया डाॅ सुधा गुप्ता जी एवं शशि पुरवार जी को बधाई!

  18. कमाल के हाइकु आदरणीय सुधा जी !!
    एक से बढ़कर एक…
    आदरणीय सुधा जी को पढ़ना हमारा सौभाग्य है !!
    आप हमेशा स्वस्थ रहें
    इसी तरह लिखती रहें !!

    शुभकामनाओं के साथ –
    ज्योत्स्ना प्रदीप

  19. शशि जी बहुत सुन्दर .. मनमोहक हाइकू !.

    शुभकामनाओं के साथ –
    ज्योत्स्ना प्रदीप

  20. आप सभी बहनों का ह्रदय से शुक्रिया, इन पलों में आपके शब्द अँधेरे में दिया जला रहें है , सादर नमन – शशि पुरवार

  21. सुधा जी को स्वास्थ्य के लिए शुभकामनाएं | सदा की तरह मन को छूते उनके और शशि जी के हाइकु हैं हार्दिक बधाई |

  22. दु:ख ने माँजा
    आँसुओं ने धो डाला
    मन उजला ।

    सुख राई -सा
    दुखों के परबत
    ढोए जीवन ।…अनुपम हाइकु !!! आ. सुधा दीदी की प्रेरक उपस्थिति निःसंदेह हमारे लिए एक नई कार्यशाला,पाठशाला है | दुःख से मंजाऔर आँसुओं से धुला उजला मन एक प्रकाश फैला गया …सादर नमन दीदी ! आपके स्वस्थ , सुदीर्घ जीवन की कामना करती हूँ !!

    बहुत सुन्दर हाइकु हैं शशि जी ..हार्दिक बधाई ..
    आप सदा स्वस्थ ,सानंद रहे ऐसी शुभकामनाएं !!


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: