Posted by: डॉ. हरदीप संधु | नवम्बर 23, 2016

1695


%e0%a4%95%e0%a4%ae%e0%a4%b2%e0%a4%be-%e0%a4%a8%e0%a4%bf%e0%a4%96%e0%a5%81%e0%a4%b0%e0%a5%8d%e0%a4%aa%e0%a4%be

Advertisements

Responses

  1. धूप है खिली
    या उमड़ा उजास
    आँगन – गली ।

    बहुत उम्दा हाइगा । कमला जी के चित्र के खिली धूप के रंग हाइगा के भाव को उभार रहे हैं । बहुत बधाई काम्बोज भाई जी सुन्दर, सटीक हाइगा के लिये ।

    सादर विभा रश्मि

  2. खूबसूरत चित्र सहित सजीव बिम्ब..आ.रामेश्वर सर…

  3. जितना सुन्दर चित्र उससे सुन्दर हाइगा….सोने पर सुहागा। हार्दिक बधाई भाईसाहब।

  4. खूबसूरत चित्र और उसपर सटीक हाइगा । दोनों अति सुन्दर हार्दिक बधाई कम्बोज जी हाइगा के लिये ।

  5. बहुत सुंदर चित्र ..आदरणीय भैया जी बहुत सुंदर हाइगा ..आप दोनों को सादर नमन

  6. कमला जी के मनमोहक चित्र पर आदरणीय भैया जी के सुंदर शब्द … बहुत सुंदर हाइगा !
    आप दोनों को हार्दिक बधाई !!!

    ~सादर
    अनिता ललित

  7. बहुत सुन्दर ..मोहक चित्र पर ..स्नेह की धूप से खिला-खिला हाइगा !
    बधाई दोनों को !!

  8. अति सुन्दर…| बहुत बहुत बधाई…आदरणीय काम्बोज जी और कमला जी को…|


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: