Posted by: डॉ. हरदीप संधु | अगस्त 3, 2016

1653


 

 1 डॉ.सरस्वती माथुर

1

खुल गया है

ख़ुशियों का झरोखा

स्वप्न समीर ।

2

शून्य क्षितिज

तैरी नीरदमाला

बूँदों का जाला।

3

साँवली साँझ

सूर्य को विदाकर

गई सँवर ।

4

आँसू नैनों में

तुम्हें धुँधलाकर

मन को धोते।

5

कोरें पन्ने पे

समय ने  लिखी जो,

मै  एक चिट्ठी ।

6

हवा उड़ा

सतरंगी घाघरे

खिले फूलों के।

 7

मीठी सी यादें

नयन- सागर में

मोती सी हुई।

8

खारे जो आँसू

यादों की धाराओं में

मीठे हो जाते।

 9

हरित दूर्वा

ओस की चुनरिया

ओढ़ के झूमी ।

10

चलते पाँव

दूर तक फैले हैं

यादों के गाँव ।

-0-

2-राजीव गोयल

1

घायल पड़ा
शब्दों के बाणों पर
रिश्तों का भीष्म

2

गिरी किताब
उठा के उसने दी
बनाए रिश्ते

3

बहा ले जो तू
दो अश्क पछतावा
जी उठें रिश्ते

4

रिश्तों के धागे
संभाल न पाएँगें
झूठ का भार

5

शब्दों की चोट
बिवाई से दुखते
रिश्तों के पाँव

6

बुने हैं रिश्तों
ले विश्वास का ताना
प्यार का बाना

7

जाकर दूर
आ गया और पास
अपनों के मैं

8

रिश्ते रेशम
पड़े गाँठ इनमें
फिर ना खुले

-0-

Advertisements

Responses

  1. Behtreen haikus ,hawa udaye ,jakar dur ,👍

  2. डॉ सरस्वती जी और राजीव जी आपदोनो द्वारा मन के उद्गारों से परिपूर्ण एक से बढ़कर एक हाइकु पढ़ने को मिले अत्यधिक बधाई ,शुभकामनाएं ।

  3. अति उत्कृष्ट हाइकु डॉ.सरस्वती माथुर, राजीव गोयल जी
    बधाई

  4. डाॅ.सरस्वती माथुर व राजीव गोयल जी दोनों की हाइकु रचनाएं बेहतरीन व उम्दा लगे ।

  5. खुल गया है
    ख़ुशियों का झरोखा
    स्वप्न समीर ।

    घायल पड़ा
    शब्दों के बाणों पर
    रिश्तों का भीष्म

    bahut sunder likha hai badhai aapdono ko
    rachana

  6. धन्यवाद

  7. Rajeev Goyal ji rishton ke tane bane par sunder haiku badhai .
    Dr.Sarswati ji aapke ati shandaar haiku. Hardik badhai.

  8. बहुत भावपूर्ण हाइकु है सरस्वती जी, बधाई.

    कोरें पन्ने पे
    समय ने लिखी जो,
    मै एक चिट्ठी ।

    राजीव जी के सभी हाइकु में रिश्तों का अलग अलग रूप है. सभी बहुत भावपूर्ण. बधाई.

    घायल पड़ा
    शब्दों के बाणों पर
    रिश्तों का भीष्म

  9. चलते पाँव
    दूर तक फैले हैं
    यादों के गाँव ।
    बहुत बढ़िया…| हार्दिक बधाई…|

    शब्दों की चोट
    बिवाई से दुखते
    रिश्तों के पाँव
    कितनी सच्ची बात कह दी…| बहुत बधाई…|

  10. संपादक द्वय का व रचना पसंद करने वाले मेरे सभी साथियों का भी मन से आभार।

  11. बहुत शानदार हाइकु ! सरस्वती जी, राजिव गोयल जी हार्दिक बधाई!

  12. bahut sundar haaiku …dono haaikukaaron ko bahut badhaaii !

  13. डाॅ.सरस्वती माथुर जी व राजीव गोयल जी दोनों की हाइकु रचनाएं बेहतरीन लगे ….

    खुल गया है
    ख़ुशियों का झरोखा
    स्वप्न समीर ।

    घायल पड़ा
    शब्दों के बाणों पर
    रिश्तों का भीष्म|

    हार्दिक बधाई !


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: