Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | अप्रैल 18, 2016

1602


1- डा. सुरेन्द्र वर्मा 

1

याद तुम्हारी- 

साँझ होते ही चीखी 

टिटहरी -सी ।

2

फूल- से तोते 

बाहों पर झूलते 

शाख सेंमल ।

3

चैत मास के 

अलसाए -से दिन 

सोते -जागते ।

4

धुँधला गए 

चमकते चेहरे 

धुआँ ही धुआँ ।

5

कूक की रट 

चुप हो गई कोयल 

उत्तर न था ।

6

ढूँढ़ता खुशी 

नहीं मिली बाहर 

मन में बसी ।

7

सुन तो ज़रा 

संगीत उदासी का 

खूबसूरत ।

8

हवा बौराई 

बदन रातरानी 

छूकर आई ।

-0-

2-सीमा स्मृति

1

मन की बातें

असीमित अनंत

बुझे जो संत।

2

मन के रंग

देखो जग के संग

नयी  तरंग।

3

बदलो सोच

ख़ुशी -तितली,आए

मन बगिया ।

-0-

Advertisements

Responses

  1. ढूँढ़ता ख़ुशी \नहीं मिली बाहर\मन में बसी| कूक की रट\चुप हो गयी कोयल \उत्तर न था |
    हा.६. हा.५
    आत्म संधान की ओर संकेत कर रहा है ,प्रकृति विनाश व भौतिक विकास का दुष्प्रभाव लक्षित करता सन्देशवाहक हाइकु है साथ ही प्रकृति के सौन्दर्य बिम्बों को उकेरते आ.वर्मा जी के हाइकु तथा सीमा जी का मन -बगिया में खुशी तितली का आवाहन करने हेतु सोच को बदलने की सलाह देता हाइकु आज के युग की पुकार हैं | सुंदर सृजन हेतु वर्मा जी के भावों को नमन , सीमा जी को बधाई |
    पुष्पा मेहरा

  2. पुष्पा मेहरा जी आपको सार्थक प्रतिक्रिया व्यक्त करने हेतु धन्यवाद |सुरेन्द्र वर्मा |

  3. सभी हाइकु बहुत सुन्दर !
    आदरणीय वर्मा जी एवं सीमा जी को हार्दिक बधाई !

  4. बहुत अच्छे लगे सभी हाइकु ज्ञान भरे गहरी सोच से अप्लावित मन में उतर गये …जैसे ढूँढ़ता खुशी/ नहीं मिली बाहर /मन में बसी । सीमा जी आप के हाइकु भी बहुत सुन्दर हैं – मन की बातें / असीमित अनंत / बूझे जो संत । दोनों को हार्दिक बधाई ।

  5. याद तुम्हारी-
    साँझ होते ही चीखी
    टिटहरी -सी ।

    बदलो सोच
    ख़ुशी -तितली,आए
    मन बगिया ।
    सभी हाइकु बेहद पसंद आए, पर यह दोनों तो खास तौर से मन भाया…|
    आप दोनों को हार्दिक बधाई…|


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: