Posted by: डॉ. हरदीप संधु | मार्च 31, 2016

1595


1-सुदर्शन रत्नाकर

1

दिल आहत

फ़ाहा मीठे बोल का

देता राहत।

2

उड़ती रही

सोचा साथ हो तुम

गिरी अकेली  ।

3

भीतर झाँक

खिल रहे कमल

उर– ताल में  ।

4

चाँद मुस्काया

तारे खिलखिलाये

अम्बर जागा  ।

5

रवि जो झाँके

लहरों के मन में

उमड़ा प्यार।

6

मन की कही,

व्यथा सबने सुनी

बाँटे न कोई।

7

टूटता नहीं

उलझनों का जाल

मन बेहाल।

8

उगता सूर्य

करे अठखेलियाँ

लहरों के संग।

9

गिरते पत्ते

दूर हो टहनी से

फिर न मिले  ।

10

रूठी बहारें

छूटी अपनी छाया

वक्त की धारा  ।

-0-

1-सुरेश जादव

1

फिर हो गई
ये जिन्दगी बेरंग
कच्चे थे रंग

2

होली के दिन
एक थी पहचान
बस इंसान।

3

पनपे भेद
उतरा जब रंग
विदा उमंग ।

4

रंग भरने
फिर आयेगी होली
ले रंग-रोली ।

-0-

Advertisements

Responses

  1. बहुत सुन्दर हाइकु | दिल आहात, क्या कहने!
    सुरेन्द्र वर्मा

  2. सुदर्शन जी और सुरेश यादव जी ,सभी हाइकु सुन्दर लगे विशेषकर पनपे भेद /उतरा जब रंग /विदा उमंग |आप दोनों को बधाई हो |

  3. सभी हाइकु अत्यन्त सुंदर एवं भावपूर्ण ! विशेषकर दिल आहत…, उड़ती रही…, पनपे भेद… दिल को छू गए।
    हार्दिक बधाई सुदर्शन दीदी तथा सुरेश जादव जी !

    ~सादर
    अनिता ललित

  4. सभी सुंदर प्रस्तुति
    बधाई

  5. मन की कही \ व्यथा सबने सुनी \बाँटे न कोई ,गिरते पत्ते \दूर हो टहनी से \फिर न मिले ,
    पनपे भेद उतरा जब रंग \बिदा उमंग |सच्चाई बयाँ करते हाइकु |सुदर्शन जी व सुरेश जी बधाई |
    पुष्पा मेहरा

  6. सभी हाइकु अत्यन्त सुंदर एवं भावपूर्ण ! विशेष सुन्दर लगे –

    दिल आहत
    फ़ाहा मीठे बोल का
    देता राहत।

    फिर हो गई
    ये जिन्दगी बेरंग
    कच्चे थे रंग
    हार्दिक बधाई सुदर्शन दीदी तथा सुरेश जादव जी !

  7. बहुत बढ़िया प्रस्तुति। सुदर्शन जी , सुरेश जी बहुत-बहुत बधाई।

  8. सभी हाइकु बहुत मनभावन.

    उड़ती रही
    सोचा साथ हो तुम
    गिरी अकेली ।

    फिर हो गई
    ये जिन्दगी बेरंग
    कच्चे थे रंग !

    सुदर्शन रत्नाकर जी और सुरेश जादव को हार्दिक बधाई.

  9. सभी का बहुत बहुत आभार___नमन

  10. ‘दिल आहत’ , ‘उड़ती रही’ , रवि जो झांके’ …बहुत सुन्दर , मोहक हाइकु …

    ‘फिर हो गई’ , पनपे भेद” .. ..सुन्दर प्रस्तुति …

    हार्दिक बधाई दीदी एवं सुरेश जादव जी !

    सादर नमन के साथ
    ज्योत्स्ना शर्मा

  11. बहुत सुन्दर, सार्थक हाइकु हैं…बधाई


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: