Posted by: डॉ. हरदीप संधु | मार्च 3, 2016

1587


1-शशि पाधा

1

मान-मर्यादा

संस्कार -घुली घुट्टी

माँ ने पिलाई ।

2

सत्य– आग्रह

सूरज सदा साक्षी

पिता की सीख ।

3

दीप– स्तम्भ

जीवन का सागर

तुम्हारा प्रेम ।

4

दुर्गम पथ

कोई तो आए साथ

थाम ले हाथ ।

5

एकाकी मन

है अटल विश्वास

तुम हो पास ।

6

सजी सँवरी

नयनों की गलियाँ

आओ तो सही ।

7

नेह की धूप

हिम -कण पिघलें

दुखिया दर्द ।

8

लंबी उड़ान

ना बाधा ना बंधन

मन– पखेरू ।

-0-

2-सुरेश जादव

1

ऋतु उमंग

नाचे गेंहूँ सरसों

हवा के संग

2

महकी कली

भ्रमर को बताने

पवन चली

3

महके पुष्प

भ्रमर छेड़े तान

ऋतु –मुस्कान ।

4

कनक ताज

सिर सजी बालियाँ

वसंत राज

5

सरसों ओढ़

खेत लगते संत

आया वसंत

-0-

Advertisements

Responses

  1. सभी हाइकु बहुत सुंदर
    .
    मान-मर्यादा
    संस्कार -घुली घुट्टी
    माँ ने पिलाई ।

    बधाई शशि जी

  2. वाह बहुत सुंदर हाइकु …बधाई शशि जी व सुरेश जी।

  3. आनन्दित हुई
    सादर

  4. sabhi haiku manmohak ! shashi ji evam suresh ji ko bahut -bahut badhai……….


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: