Posted by: डॉ. हरदीप संधु | जनवरी 4, 2016

1551


1-डॉ सुरेन्द्र वर्मा

1

कोहरा ओढ़े

जाड़े  में जनवरी

साँवरी भई

2

स्वेटर डाले

गले पड़ गई वो

शाल  लपेटे

3

देखो सरदी

दुबक गईओढ़

रजाई नई

4

सरदी मुन्नी

सड़क पे निकली

काँधे पे चुन्नी  

5

आज रात को 

सरदी ओसों रोई

पत्र गवाही  

-0-

2-महिमाश्री

mahima shree 11

बौरा आम

चहका उपवन

आया बसंत

2

गरजे घन

नाच उठा किसान

बुझेगी प्यास ।

3

दहेज़ भारी

कुरीतियों की मारी

वधू बेचारी

4

अंकुर बनी

अभी नहीं खिली थी

भ्रूण ही तो थी

5

शोर है कैसा

कुर्सी पे तो है बैठा

अपना नेता

6

धर्म की आड़

बाबाओ का व्यापार

दुखी संसार ।

7

टूटे सपने

डिग्रियाँ बनी भार

बेरोगार

8

व्याकुल मन

लगे जैसे है स्वर्ग

मैया की गोद ।

-0-

परिचय:-महिमाश्री

शिक्षा   :-  एम.सी.ए , पटना, बिहार

लेखन विधाएँ :- अतुकांत कविताएँ, ग़ज़ल, दोहें, कहानी, यात्रा- वृतांत,सामाजिक विषयों पर आलेख , समीक्षा  

साहित्यिक गतिविधियाँ- एकल काव्य संग्रह- अकुलाहटें मेरे मन की;साझा काव्य- संकलन “त्रिसुन्गंधी” , “परों को खोलते हुए-१”, ‘सारांश समय का’ , ‘काव्य सुगंध -2’, विभिन्न पत्र- पत्रिकाओं में रचनाएँ  प्रकाशित, मासिक ई- पत्रिका शब्द व्यंजना में संपादन तथा अंतर्जाल और गोष्ठियों में साहित्य सक्रियता।

सम्प्रति :पब्लिक सेक्टर  में सात साल काम करने के बाद (मार्च 2007-) वर्तमान में स्वतंत्र लेखन, पत्रकारिता , नई दिल्ली        

Blogs:www.mahimashree.blogspots.com

 

Advertisements

Responses

  1. आज रात को
    सरदी ओसों रोई
    पत्र गवाही ।….Amazing! Awesome!!

  2. Dr. Surendra Verma sahab ko saadar naman!
    Welcome here Mahimashree:)

  3. डॉ सुरेन्द्र वर्मा जी ,और महिमा श्री जी आप दोनों को हाइकू की रचना के लिए बधाई |महिमा जी आपका स्वागत है |आपके भाव हाइकू के रूप में पढने को मिलेगे |सुरेन्द्र जी आपका यह हाइकू बहुत भाव पूर्ण लगा -आज रात को /सरदी ओसों रोई /पत्र गवाही |

  4. Bahut sundar

  5. आज रात को\ सरदी ओसों रोई \ पत्र गवाही| बहुत सुंदरअभिव्यक्ति , महिमा श्री के हाइकु भी सभी सुंदर है ,आदरणीय वर्मा जी के भावों को नमन ,महिमा श्री को बधाई |

    पुष्पा मेहरा

  6. सुन्दर भावपूर्ण हाइकु ..आदरणीय डॉ. वर्मा जी एवं महिमा जी को हार्दिक बधाई !

  7. भावपूर्ण एवं सुंदर हाइकु !
    आदरणीय सुरेन्द्र वर्मा जी तथा महिमा जी को हार्दिक बधाई!

    ~सादर
    अनिता ललित

  8. सुन्दर हाइकु सुरेंद्र जी । बधाई

    स्वागत महिमा जी

    सुंदर हाइकु प्रस्तुत किये आपने। बधाई

  9. भावपूर्ण एवं सुंदर हाइकु !
    आदरणीय सुरेन्द्र वर्मा जी तथा महिमा जी को हार्दिक बधाई!

  10. सुरेन्द्र वर्मा जी के सभी हाइकु बहुत पसंद आए…| हार्दिक बधाई…|
    महिमाश्री जी, इतने सुन्दर हाइकु के साथ आपका स्वागत है…| बहुत बधाई…|

  11. are vah bahut khoob likha hai svagat aur badhai
    rachana

  12. शाल लपेटे…बहुत खूब

    काँधे पे चुन्नी …क्या बात ….

    बधाई आदरणीय डॉ.सुरेन्द्र जी…

  13. महिमा जी यथार्थ ब्याँ करते हाइकु बधाई!!

  14. डा सुरेन्द्र वर्मा जी और महिमा श्री जी दोनों के हाईकु बहुत अच्छे लगे ।वाह क्या बात है … सरदी मुन्नी/ दुबक गई,ओढ़/ रजाई नई ।
    महिमा श्री जी बेरोजगारी पर सुन्दर हाइकुलगा ।आप दोनों को बधाई ह?


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: