Posted by: डॉ. हरदीप संधु | दिसम्बर 22, 2015

1544


1-ऋता शेखर मधु

1

मन -मन्दिर

अंतस् का  है उजाला

प्रार्थना– दीप।

2

हवा की दया

खुशबू बन बिखरी

पुष्प है मौन।

3

नभ की छाँव

नर्म दूब- बिछौना

दीनों का सुख।

4

दीये की लौ

आशाओं का रजनी

विलीन तम।

5

ग्रीष्म की तृषा

हँसकर झेलता

गुलमोहर।

6

प्रश्नों के घेरे

शून्य में उपजते

पाते सृजन।

7

नींद का गाँव

स्वप्न बिछौना ठाँव

पसरी यादें।

8

मौन अधर

कलम का संवाद

अमिट छाप।

9

कँटीली राह

अपमान वेदना

स्वत्व का ज्ञान।

10

धूप सघन

मातृ-स्पर्श आनंद

फुहार सम।

11

धरा का गर्भ

बीज नर या मादा

भाव समान।

12

विदा करे माँ

आँचल में बाँध दी

सीख पोटली।

13

पारदर्शिता

संवाद की मिठास

सुलझे रिश्ते।

14

टिके अतिथि

हिली घर की नींव

ध्वस्त बजट।

-0-

2-विभा रश्मि

CYMERA_20151220_191031 CYMERA_20151220_191932

Advertisements

Responses

  1. sundar haiku aur haiga! shubhkaanayen!

  2. sundar haiku aur haiga! shubhkamnaayen!

  3. 1-ऋता शेखर मधु के समस्त हाइकु गम्भीर अर्थों के व्यंजक हैं,सभी हाइकु उत्कृष्ट हैं…कुछ हाइकु तो बड़े सहज ढंगसे अपवी बात कह देते हैं यथा..विदा करे माँ/आँचल में बाँध दी/सीख पोटली….विभा रश्मि केहाइगा भी मनहर हैॉ.दोनों को बधाई.

  4. बहुत सुन्दर हाइकु और हाइगा….बधाई अपको।

  5. विभा रश्मि जी के हाइकु उत्कृष्ट है…सुन्दर चित्र ,सुन्दर प्रस्तुति| बधाई विभा जी|
    मेरे हाइकु को यहाँ पर स्थान देने के लिए आदरणीय सम्पादक महोदय का हार्दिक आभार|
    उत्साहवर्धक एवं स्नेहिल टिप्पणी के लिए आ० शिव जी सर एवं कृष्णा जी का बहुत आभार|

  6. ऋता शेखेर मधु जी और विभा जी आप दोनों को उत्तम हाइकु और हाइगा प्रस्तुति के लिए हार्दिक बधाई और नववर्ष की शुभकामनाएं |

  7. बहुत भावपूर्ण हाइकु एवं हाइगा. ऋता जी और विभा जी को बधाई.

  8. कँटीली राह
    अपमान वेदना
    स्वत्व का ज्ञान।
    जिस तरह आग में तप कर सोना कुंदन बनता है उसी तरह बहुत बाद वेदना से ही स्व का ज्ञान होता है…| बहुत बढ़िया हाइकु ऋता दी…| बधाई…|
    विभा जी के हाइगा बहुत सुन्दर…बधाई…|

  9. moun adhar
    kalam ka samvad
    amit chap.

    Ritu shekhar madhu jee ke sanjeeda haiku bahut sundar hai .badhai aapko.
    mera utsah badhane ke liye shiv jee shrivastav,krishna varma jee,Ritu shekhar madhu jee,savita Aggarwal jee,jenni shabnam jee,priyanka Gupta jee ko bahut dhanyavad.Aadarneey kamboj bhai v sandhu bahan ka shukriya .

  10. maun adhar
    kalam sa samvad
    Amit chap.
    Ritu shekhar madhu jee ke bahut khoobsurat haiku.badhai swikare.
    shiv jee shrivastav,krishna verma,Ritu shekhar jee ,savita Aggarwal jee,jenni shabnam jee,priyanka Gupta jee bahut aabhar mera haiga pasand karne ke liye.kamboj bhai v sandhu bahen ko aabhar mere haiga ko sthan dene ke liye,

  11. मधु जी एवं विभा जी बढ़िया भावो को संजोए हाइकु एवं हाइगा..
    शुभकामना एं

  12. उत्कृष्ट हाइकु ..मोहक हाइगा !
    दोनों रचनाकारों को को हार्दिक बधाई

  13. विभा और ऋता जी को सुंदर सृजन के लिए बधाई !


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: