Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | नवम्बर 11, 2015

1524


1-सुरेन्द्र वर्मा

1

जल उठेंगे

कितने ही दीपक

दिया जलाओ

2

दिये  ने दिया

अपना सब कुछ

रोशनी बाँटी

3

रात भर का

छोटा पर महान

दीप– जीवन

4

दिए ने झेली

कितनी ही  आँधियाँ

हार न मानी

5

दीप-सा पात्र

नेह -भरा अंतर

बाती सम्पर्क

6

और  क्या चाहूँ

दीपक, स्नेह, बाती

सिवा इनके  

7

एक अकेला

स्नेह– भरा दीपक

काटे अँधेरा ।

8

मुँह न ताको

खुद करो रोशनी

दीया जलाओ

-0-

 2-डॉ ज्योत्स्ना शर्मा

1

दिए तो जिए

उजालों की ख़ातिर

तुम्हारे लिए ।

2

दिए तो जले

उजालों की चाहत

अँधेरे मिले ।

3

काली हो रात

खिल उठती बाती

दीए के साथ ।

4

जीने की चाह

ढूँढ लेती तम में

अपनी राह ।

5

सहके पीड़ा

खिलें फुलझड़ियाँ

हँसे मुनिया !

-0-

3-पुष्पा मेहरा

1

नभ –आँगन

पुलकित हैं तारे

हर्षाते  मन ।

2

खुले  झरोखे

चाँदनी बन झरे

दीप – उजाले

3

सुन्दर ये जग

सुन्दर यह मन

हो ज्योतिर्मय।

4

यादों के दीप

झलमल जलते

दूर गाँव में

5

आई जो अमा

चेत गए जुगनू

तम से लड़े

6

मिला जो नेह

जगमगाने लगा

मन का दिया

7

माटी  के  दी

हिलमिल -जो हँसे

लजाई अमा

8

सजी रँगोली

खिलीं फुलझड़ियाँ

हँसे अनार

9

सुबह होगी

रात ढल जायेगी

दीप बताते।

10

देखो! शहर

रोशनी के सिन्धु में

जागता खड़ा

-0-

4-सुभाष चंद्र लखेड़ा

1

हवा बचाओ

पटाखे न बजाओ

शोर घटाओ।

2

खुशी का दीया

चलो हम जलाएँ

घृणा मिटाएँ।

3

स्नेह की बाती

सद्भाव रूपी तेल

कराते मेल।

4

खाओ कसम

सब के लिए अब

जिएँगे हम।

5

सभी से मिलें

हर  गली दीपक

स्नेह के जलें।

-0-

5- वंशस्थ गौतम

1

रोज़ दिवाली

हो मन आँगन में

फैले प्रकाश ।

2

मन का दीप

प्रभु के चरणों में

जले सतत।

3

मंगल दीप

जले हर घर में

हो खुशहाली।

4

आशा के दीप

यूँ ही जलते रहें

कभी न बुझें ।

-0-

 

Advertisements

Responses

  1. हिन्दी हाइकु के समस्त रचनाकारों को दीपोत्सव की हार्दिक मंगलकामनाएं।

  2. हिंदी हाइकु से जुड़े आप सभी रचनाकारों को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं !
    रौशनी दिलों तक पहुंचे यही पैगाम है ।
    जिंदगी उम्मीद का एक सच्चा नाम है।
    खुशियां दामन में हों उजालों की तरह,
    दीप से दीप जलाना ही मेरा काम है ।।
    शुभ दीपावली !
    – सुभाष चंद्र लखेड़ा,

  3. दीप के प्रकाश की शक्ति का आभास कराते , जीवन में स्नेहमयी ज्योति -वर्तिका जला प्रेम – सद्भावना के प्रकाश को जन मानस तक पहुँचने का संदेश देते हाइकु
    अपने उद्देश्य में सफ़ल हों | माननीय वर्मा जी,ज्योत्स्ना जी, गौतम व लखेड़ा जी को
    दीपावली की अनेकानेक शुभकामनायें|
    पुष्पा मेहरा

  4. सभी रचनाकारों को उनके सुन्दर सृजन के लिए हार्दिक बधाई और दीवाली की शुभकामनाएं |

  5. सभी रचनाकारों को उनके सुन्दर सृजन के लिए हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं !

  6. bahut sundar…sabhi ko badhai…

  7. बहुत सुन्दर हाइकु…सभी को मेरी बधाई…|


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: