Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | अक्टूबर 13, 2015

1501


1-अमित अग्रवाल

(सम्माननीया डॉ. भावना कुँअर को  प्रेरणा के लिए धन्यवाद के साथ समर्पित-अमित अग्रवाल)

1

उफ़.. फिर से

‘जाग उठी चुभन’

दबाई तो थी।

2

कोई ख़लिश

‘दिल के दरमियाँ’

जागती – सोती।

-0-

2-विजय आनंद

1

होठों पे  हँसी

दर्द का ज्वालामुखी

लम्हों की दास्ताँ

2

दुखों की आँच

संकल्पों की सुरभि

जीना उजास

-0-

3-टीकम आर. वैष्णव

टीकम आर वैष्णव 1

मर्जी लोगो की

जिंदगी तेरी -मेरी

गजब है ना !

2

खामोशी अच्छी

निगाह बोलेगी तो

राज़ खुलेंगे ।

3

चाँद -सितारे

कुछ जले -बुझे -से

मेरी तरह

-0-

Advertisements

Responses

  1. अमित जी दिल की चुभन दबाने पर भी जाग उठी सुन्दर भाव है |विजय जी दुखों की आंच ….अच्छा है | टीकम आर जी आपके द्वारा रचा हाइकु खामोशी ……पसंद आया |आप सभी को बधाई और नव रात्रि की शुभकामनाएं |

  2. sbhi haaiku utkrisht haen
    sbhi ko badhai

  3. sabhi haiku pyare hain ……koi khalish ,dukhon ki aanch ,chaand sitare …sabne man moh liya ……….amit ji ,vijay ji evam tikam ji kobahut -bahut badhai.

  4. उत्तम हाइकु रचनाकारों को बधाई,
    सादर,
    अमिता

  5. सभी हाइकु अच्छे लिखे हैं .अमितजी, विजय जी , टीकम जी को बधाई|
    पुष्पा मेहरा

  6. अमित अग्रवाल जी आपने अपने हाइकुओं में सुन्दर पद-बंधों को उद्धृत करते हुए अपनी रचनात्मकता का अच्छा परिचय दिया है . बधाई. सुरेन्द्र वर्मा

  7. कोई ख़लिश….दुखों की आँच….चाँद-सितारे….बेहतरीन हाइकु लगे।
    अमित जी, विजय जी, टीकम जी…..बहुत बधाई।

  8. अमित जी विजय जी वैष्णव जी बधाई !!
    हाईकू सृजन हेतु!!
    इसी तरह सृजन की ओर बढें।

  9. उफ़.. फिर से
    ‘जाग उठी चुभन’
    दबाई तो थी।
    2
    कोई ख़लिश
    ‘दिल के दरमियाँ’
    जागती – सोती।

    Amit ji meri pustak “jaag uthi chubhan” par jo haiku likha hai vo bemisal hai dabai to thi jaag uthi bahut sundar…‘दिल के दरमियाँ’ mera blog hai jagti soti koi khalish dil ke darmiyan bahut vistar se sab kaha dala nanhe se haiku ke madhyam se Amit ji aapka hrday se aabhar aapne itni sukshamta se book ko padha..aabhari hun anekon shubhkamnayen aapko apni lekhni ko rukne mat dijiye…

    Any haiku bhi achhe lage sabhi lekhon ko hardik badhai..

  10. मेरे हाइकु (ओं) को यहाँ स्थान देने के लिए सम्पादक द्वय का धन्यवाद!
    पसन्द करने के लिए मित्रों का आभार !!

  11. amit ji ,vijay ji,tikam ji bahut bahut badhai
    sunder haiku hai
    rachana

  12. भावना जी से प्रेरित ये हाइकु एक नया और रोचक प्रयोग लगा…|
    आप दोनों को सुन्दर हाइकु के लिए बहुत बधाई…|


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: