Posted by: डॉ. हरदीप संधु | जुलाई 4, 2015

हिन्दी हाइकु : छठे वर्ष में प्रवेश- 2


14-डॉ भावना कुँअर

bhawna-prageet1

लाल था जोड़ा

आज़ादी से उड़ना

भूलना पड़ा ।

2

बेबस कली

टूट पड़े भँवरे

एक न चली ।

-0-

15- रामेश्वर काम्बोज हिमांशु

1

मन -सागर

व्याकुल हैं लहरें

कभी न सोएँ ।

2

नहाने आते,

जब चाँद सितारे

तट हर्षाते ।

-0-

 16-सविता अग्रवाल “सवि”

सविता अग्रवाल1

मन किताब

पढ़ूँ मैं बारम्बार

तेरा ही नाम।

2

उमंगें साथ

घर बने बगिया

जीने की आस

-0-

17-पुष्पा मेहरा

पुष्पा मेहरा1

फल से बीज

बीज  से वृक्ष बना

सघन खड़ा ।

2

आई बरखा

लाई बूँद चाशनी

तर है मन ।

-0-

18-डा आशा पाण्डेय

आशा1

घर को जोड़

सजाती है रिश्तों को

टूटती नारी!

2

बनी पत्थर

निर्दोष थी अहिल्या

बेखौफ इन्द्र!

-0-

19-शशि पाधा

13-SHASHI PADHA1

नभ आषाढ़ी

धूप- धुली गलियाँ

सूर्य- सवारी  |

2

रंगरेजवा

रंग दे चुनरिया

प्रीत के रंग |

-0-

20-रेणु चन्‍द्रा

1

ढलता सूर्य

मिलन को व्याकुल

धरा शर्माई ।

2

चाँद चाँदनी

मोहक मिलन है

पूनम रात ।

-0-

21-गुंजन अग्रवाल

15-GUNJAN GARG AGRAWAL (1)1

कौंधी बिजली

सहम कर खड़ी

अट्टालिकाएँ !

2

पथिक धूप

सुस्ताने आ बैठी है

पीपल गोद ।

-0-

22-अमित अग्रवाल

अमित1

रंगों नहाये

सफ़ेद कैनवस

दर्द उकेरे ।

2

दुखें हैं आँखें

जंग लगे सपने

, और नहीं ।

-0-

23-डॉ नूतन गैरोला

NOOTAN MAIN1

जुस्तजू तेरी

शमाँ -सी जला करे

ख्वाब साकी- से

2

रुसवाइयों

जरा दामन  बचा

इश्क जागा है ।

-0-

24-सपना मांगलिक

सपना मांगलिक1

नव शिशु-सी

लेकर अंगडाई

भोर है आई

2

धरा चहकी

रवि लाया सवेरा

दूर अँधेरा ।

-0-

25-प्रियंका गुप्ता
18-प्रियंका गुप्ता1
सिंदूरी सूर्य
आसमान में टंका
माँ की बिंदी सा।

2
जर्जर शिला
इतिहास दफ़न
सदियों तक |

-0-  

26–अनिता ललि

01-ANITA LAIT1

टूटे विश्वास

जब अपने तोड़ें

खो जाती आस।

2

बीती कहानी

था रिश्तों की रवानी

आँखों का पानी।

-0-

27-शशि पुरवार

शशि पुरवार1

एकाकीपन

धुआँ- धुआँ जलता

दीवानापन।

2

भाव चपल 

कलम से उभरें  

स्वर्णिम पल

-0-

Advertisements

Responses

  1. ” हिंदी हाइकु ” ई – पत्रिका के छठे वर्ष में प्रवेश के शुभ अवसर प्रकाशित सभी हाइकु बहुत ही खूबसूरत हैं और सभी हाइकुकारों की रचना धर्मिता से हमारा परिचय कराते हैं। आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं !
    -सुभाष लखेड़ा

  2. भाई हिमांशु जी , बहन हरदीप जी
    सादर नमन।

    शब्दों का उजाला के हाइकु साहित्य की इस विधा से जुड़कर मैं गौरवान्वित महसूस कर रही हूँ। हाइकु लोक की छठी वर्षगांठ पर मेरी हार्दिक शुभकामनाएं। विश्व साहित्य में शिखर छुए। भाई हिमांशु जी , बहन हरदीप जी के प्रयासों से खुद के साथ हम सबको साथ ले आगे बढ़ा रहे हैं। परहित की सकारात्मक सोच ही समाज – देश – विश्व को नई दिशा देते हैं। आप दोनों मिसाल हैं।
    सभी हाइकु उत्कृष्टकोटि के हैं, बौद्धिक गहराई लिए हुए गागर में सागर भरे हुए।
    मेरी सभी को हार्दिक शुभकामनाएं।
    मंजु गुप्ता

  3. सभी रचनाकारों के हाइकु बेहद सुन्दर है। हिंदी हाइकु की इस मुकाम पर सभी परिवार के सभी भाई -बहनों को हार्दिक शुभकामनाएँ , आ. हिमांशु जी और हरदीप जी को इस सफलता हेतु कोटि कोटि बधाई

  4. आदरणीय डॉ. संधु और काम्बोज सर,
    ‘हिन्दी हाइकु’ की पांचवीं वर्षगाँठ पर बहुत सी बधाई और शुभकामनाएँ !
    विशेषांक में सम्मिलित सब हाइकुकारों का अभिनन्दन!
    सभी हाइकु विशिष्ट, और उच्च कोटि के हैं.
    मुझे यहाँ स्थान देने के लिए हार्दिक आभार!

  5. पांच सालों का ये सफ़र आगे आने वाले अनगिनत सालों तक यूँ ही चलता रहे, पुराने साथियों के साथ-साथ नयों का भी ऐसा ही मजबूत नेह-बंधन हमारे इस हाइकु परिवार को और भी करीब लाए…इन्ही सारी शुभकामनाओं के साथ आप सभी को हिंदी हाइकु की सालगिरह बहुत बहुत मुबारक हो…|

  6. सभी साथी हाइकुकारों को हिंदी हाइकु की छठीं सालगिरह बहुत मुबारक हो…|

  7. हाइकु के नन्हे पंखों की परवाज़ ऊँचे आसमानों को छुए
    नित नई उम्मीदों का सूरज इसकी राहों में स्वर्णिम आभा बिखराये !
    आदरणीया हरदीप जी एवं हिमांशु भैया जी के साथ-साथ हाइकु परिवार के सभी सदस्यों को ‘हिन्दी हाइकु’ के छठे वर्ष में प्रवेश करने के शुभ अवसर पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएँ !!!

    सभी हाइकु अत्यंत सुंदर ! सभी रचनाकारों को हार्दिक बधाई तथा शुभकामनाएँ !
    मेरे हाइकु को यहाँ स्थान देने हेतु… हृदय से संपादक द्वय का आभार !!!

    ~सादर
    अनिता ललित

  8. चंदा की चांदनी बिखेरते शीतलता देते हाइकू |सभी हाइकुकारों को हार्दिक बधाई |

  9. सभी हाइकु बहुत ही खूबसूरत हैं
    हाइकु की छठीं सालगिरह सभी हाइकुकारों को हार्दिक बधाई |
    मेरे हाइकु को यहाँ स्थान देने हेतु द्वय से आभार …/\..

  10. आदरणीय सम्पादक द्वय तथा समस्त हाइकु रचनाकारों को हिन्दी हाइकु की वर्षगाँठ पर कोटिश बधाइयाँ।

    चलता रहे
    हाइकु का सफर
    यूँही ता उम्र।

    कृष्णा वर्मा

  11. समस्त हाइकु परिवार को बधाई ।
    बहन हरदीप जी और आदरेय हिमांशु जी
    को सादर नमन ।

  12. हिन्दी हाइकु के छटे वर्ष में प्रवेश पर आदरनीय कम्बोज जी व हरदीप संधु जी के साथ साथ पत्रिका से जुड़े सभी परिवारिक सदस्यों को बधाइयाँ । सभी हाइकु सुन्दर मन भावन लगे ,इसके लिये भी समस्त हाइकुकार बधाई के पात्र हैं ।

  13. हिन्दी हाइकु का छठे वर्ष में प्रवेश के लिए हार्दिक बधाइयाँ,
    नित नई ऊँचाइयाँ हासिल करता रहे हमारा यह परिवार…
    सभी रचनाकारों के साथ आदरणीय सम्पादक द्वय को बहुत बहुत शुभकामनाएँ!!
    *ऋता*

  14. sundar bhaav liye bahut sundar haiku ! sabhi rachanaakaaron aur hindi haiku pariwaar ko haardik badhaaii ..shubh kaamanaayen !!

  15. हिन्दी हाइकु के छठे वर्ष में प्रवेश होने पर बधाई.इस विशेषांक मे मेरे हाइकुसम्मिलित करने के लिये धन्यवाद.

  16. sabhi haiku kaaron ko Hindihaiku ke chhaThe varsh me.n pravesh karane ke avsar par likhe gaye sundar haiku hetu badhaai.

    Pushpa Mehra


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: