Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | मई 10, 2015

गुलमोहर


डॉज्योत्स्ना शर्मा

1-

2

तपाए घाम

जिद्दी गुलमोहर

खिलें ललाम !

3

देखो री आली

गुलमोहर भूप

शोभा निराली !

IMG_20150502_0822274

गुलमोहर

करें अभिनन्दन

यूँ झर-झर !

5

कौन सहेली ?

गुलमोहर हँसे

पूछे पहेली ?

6

गुलमोहर

प्रेम की है आग? या

लिया बैराग ?

7

कौन-सा राग

बजाता झर-झर

गुलमोहर !

8

फूलों से भरे

धरा ! तेरा दामन

गुलमोहर !

9 - Copy

 10

अरी चिरैया

भाया गुलमोहर

फूलों में घर !

-0-

Advertisements

Responses

  1. अरी चिरैया
    भाया गुलमोहर
    फूलों में घर !…..अति सुंदर !
    ज्यो्त्स्ना जी का गुलमोहर पर सुंदर हाइगा व सभी हाइकु मनको भाए ….बधाई सखी !

  2. jyotsna ji gulmohar par likhe sabhi haiku khilati dhoop ki tarah hi khilkhila rahe hain.
    badhai.
    pushpa mehra.

  3. बहुत ही प्यारे हाइगा एवं हाइकु !
    सचमुच! गुलमोहर की छटा निराली !
    हार्दिक बधाई… प्रिय सखी ज्योत्स्ना शर्मा जी !

    ~सादर -सस्नेह
    अनिता ललित

  4. अरी चिरैया
    भाया गुलमोहर
    फूलों में घर !

    bahut sundar….bahut bahut badhai…

  5. अरी चिरैया
    भाया गुलमोहर
    फूलों में घर !
    BAHUT SUNDER !…BAHUT SAARI SHUBHKAAMNAYEN JYOTSNA JI .

  6. aapaki prerak upasthiti ke liye hruday se aabhaar .
    sadaiv sneh rakhiyega !

    saadar
    jyotsna sharma

  7. गुलमोहर की तरह ही खूबसूरत हाइकु के लिए हार्त्दिक बधाई…|


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: