Posted by: डॉ. हरदीप संधु | मई 5, 2015

ऊँघते चीड़


प्रियम्बरा

कार्यक्षेत्र:पत्रकारिता में करीब 14 साल का अनुभव

प्रकाशन:विभिन्न पत्र – पत्रिकाओं, वेब पत्रिकाओं में लेख, कविताएँ और कहानियाँ प्रकाशित

सम्प्रति : लोकसभा टी वी में कार्यरत।

प्रियम्बर

1

मेट्रो की भीड़

भाग रहे हैं लोग

सभी अकेले

2

बेरंग जहाँ

रोशन कर गया

आँखों का दान

3

जागती आँखें

चाँद पाने की ज़िद

ऊँघते ख्वाब ।

4

कोयल कूकी

रश्मि खिलखिलाई

अन्धेरा छँटा

5

बादल छँटे

उड़ चला परिंदा

असीम शान्ति

6

अमृत– घट

बूँद नहीं बरसे

तडपे मीन।

7

परछाइयाँ

साथ नहीं छोड़तीं

उजाले तक

8

बूढ़ा सूरज

आस से देखे धरा

अँधेरा फैला

9

पढ़ते बच्चे

अँन्धेरा छट रहा

सूर्य निकला

10

बिखरी लाशें

राजनीति खेलने

गिद्ध आ गए

11

गिद्ध आ गए

क्षत- विक्षत लाशें

आँखें चमकी

12

छज्जे पे बैठी

कौओं की संसद है

चर्चा क्या होगी  !

13

ऊँघते चीड़

पहाड़ों पर रात

चाँदनी साथ

14

लाल बुरांश

छिटकी  हैं रश्मियाँ

सुर्ख कल्पना

15

धूप गलाए

जुए में खेतिहर

भूख से मौत

16

रौशन ज़मीं

जुगनुओं की बस्ती

पंछी– से हम

17

रोको ना टोको

अंतहीन आकाश

ऊँची उड़ान

18

सुधा-सलिल

प्रेम में भीगी मही

वसंत आया

19

छलके शब्द

नैन करे संवाद

एक लौ दिखी

20

गोर बदरा

धुनिया धुनले बा

रूई के फाहा ।

(भोजपुरी)

-0-

Advertisements

Responses

  1. बधाई प्रियम्बरा आपके हाइकु बहुत ही सुंदर हैं हाइकु समूह में आपका स्वागत …God bless you।

  2. बधाई, आपकी सभी रचनायें बहुत खूबसूरत हैं |

  3. bahut sundar sargarbhit haiku …swagat hai sundar haiku hetu hardik badhai

    2015-05-05 9:32 GMT+05:30 “हिन्दी हाइकु(HINDI HAIKU)-‘हाइकु कविताओं की वेब

  4. Sundar haiku! Swaagat..!

  5. sabhi haiku bahut sunder hain.priyambara ji badhai.
    pushpa mehra.

  6. सुन्‍दर हाइकु । आप का इस परिवार में स्‍वागत है। हार्दिक बधाई।

  7. Achhe hain haiku hardik badhai…

  8. मेट्रो की भीड़/ भाग रहे हैं लोग/ सभी अकेले … sach hai, aaj kal yun to har or bas bheed hi bheed hai, lekin insaan fir bhi kitna akela hai ….

    जागती आँखें, ऊँघते ख्वाब waah kitni khubsurat baat kahi hai

    Priyambara … Hindi Haiku parivar me aapka swagat hai.

  9. sundar haiku …… swagat ke saath saath badhai priyambra ji .

  10. सभी हाइकु सुंदर!
    बहुत बधाई एवं हाइकु परिवार में आपका हार्दिक स्वागत है प्रियम्बरा जी !

    ~सादर
    अनिता ललित

  11. छज्जे पे बैठी
    कौओं की संसद है
    चर्चा क्या होगी !
    13
    ऊँघते चीड़
    पहाड़ों पर रात
    चाँदनी साथ| प्रियम्बरा जी, बहुत अच्छे लगे आपके हाइकु | यह दोनों तो और भी मन भाये | आपको बधाई और हमारे परिवार में आपका बहुत बहुत स्वागत |

    शशि पाधा

  12. बहुत सुन्दर हाइकु…| भोजपुरी में हाइकु पढ़ के भी बहुत आनद आया |
    हार्दिक बधाई…|


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: