Posted by: डॉ. हरदीप संधु | अप्रैल 13, 2015

तुम्हारा प्यार


प्रियंका गुप्ता

प्रियन्का गुप्ता1

तुम्हारी यादें

काँच का मर्तबान

सहेजे रखा

2

तुम्हारा प्यार

कागज़ पे उकेरा

बनी कविता

3

तुम्हारा प्यार

दूर कहीं झंकृत

कोई सितार

4

तुम्हारा प्यार

डायरी में सहेजा

सुर्ख़ गुलाब

5

तुम्हारा प्यार

ज्यों सहरा में मिला

दो बूँद जल

6

तुम्हारा प्यार

आँगन में छिटकी

विधु- किरन

7

तुम्हारा प्यार

गुनगुनी धूपसा

सहला जाता

8

तुम्हारा प्यार

पहली किरणसा,

रोज़ जगाता

9

तुम्हारा प्यार

कभी डूब भी जाऊँ

लेगा  उबार ।

10

तुम्हारा प्यार

मिला; फिर क्यों भला

सपना लगे ?

11

तुम्हारा प्यार

ठण्डी पुरवइया

हौले से छुए

12

तुम्हारा प्यार

सर्द रातों में जैसे

नर्म लिहाफ़।

13

तुम्हारा प्यार

आँखों पर रखे हुए

नींद के फाहे

14

तुम्हारा प्यार

अलाव बन तापे

सर्द रातों में ।

15

तुम्हारा प्यार

पाजेब सा छनके

मनआँगन

16

तुम्हारा प्यार

जब भी बरसता

मन भिगोता

17

तुम्हारा प्यार

माथे पे जड़ देता

नेहचुम्बन

18

तुम्हारा प्यार

आत्मा से महसूसा

देह से परे

19

तुम्हारा प्यार

कानों में घोले कोई

स्वरलहरी

20

तुम्हारा प्यार

लियुग में गूँजे

वेदऋचाएँ

21

तुम्हारा प्यार

ज्यों हवन में डाले

समिधा कोई

-0-

Advertisements

Responses

  1. बहुत सुंदर मनभावन हाइकु …. बधाई!

  2. सभी हाइकु बेहतरीन हैं; बहुत अच्छे लगे । प्रियंका गुप्ता जी – बधाई और शुभकामनाएं !

  3. बहुत खूबसूरती से और अनेक कोणों से प्यार को प्रियंका गुता ने अभिव्यक्ति दी है. इन सुन्दर रचनाओं के लिए बधाई. शुभकामनाएं -सुरेन्द्र वर्मा

  4. बेहद खूबसूरत हाइकु !
    शुभकामनायें, प्रियंका जी !

  5. प्यार पर बड़े प्यारे हाइकु ..बहुत शुभकामनाएँ प्रियंका जी !

  6. pyaar par pyar ka ras chalkaate pyare haiku …priyanka ji pyar bhari shubhkaamnaye.

  7. प्यार ही प्यार…. बेशुमार …
    बहुत ख़ूब प्रियंका जी !
    हार्दिक बधाई आपको !!!

    ~सादर
    अनिता ललित

  8. इतनी प्यारी और उत्साहवर्द्धक टिप्पणियों से अभिभूत हूँ…| आप सबका बहुत आभार और शुक्रिया…|

  9. इतनी प्यारी और उत्साहवर्द्धक टिप्पणियों से अभिभूत हूँ…| आप सबका बहुत बहुत शुक्रिया…|

  10. प्रियंका जी, प्यार के इतने प्यारे प्यारे रूप देखते हुए मन आपके लिए प्यार से भर गया | बहुत सुन्दर अभिव्यक्ति | बधाई |

  11. तुम्हारा प्यार–
    कभी डूब भी जाऊँ
    लेगा उबार ।
    kya sahi likha hai
    pyar ke anek mohak rup likhe aapne
    badhai
    rachana

  12. pyar par pyare se haiku badhai priyanka ji
    .
    pushpa mehra.

  13. तुम्हारा प्यार
    सर्द रातों में जैसे
    नर्म लिहाफ़।

    Bahut sundar!


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: