Posted by: डॉ. हरदीप संधु | अप्रैल 11, 2015

दर्द अकेला


1-सुदर्शन रत्नाकर

1

दर्द अकेला

 किसे सुनाए दास्ताँ

 सभी हैं व्यस्त ।

-0-

2-डॉ नूतन गैरोला

NOOTAN MAIN1

ख्वाब काँच– से

आँखों पे रुके जब

हुए मोती– से ।

2

तिरोहित  था

मेरा चिंतन जब,

मुझे समझे ।

-0-

8-BHAWNA SAXENA3- भावना सक्सैना

1

उड़ा न पाएँ

दृढ़ आत्मविश्वास

तेज हवाएँ।

 2

साहस– संग

बीते कल से जन्मे

नया संसार।

 3

पथ-बाधाएँ

मरते दम तक 

रोक न पाएँ।

 4

बड़ा कठिन

जीवन का समर

धीरज धर ।

 5

काले बादल

बरसें घनघोर

डरा न पाएँ ।

 6

क्यों हो रुके ?

जीवन समर में

चलते रहो।

-0-

4-कुमुद बंसल

1

होती थकान

दुःख -भरे गीतों से,

सुन अजान !

2

खुशियाँ बोलीं-

मैं आऊँ तेरे पास

फैलाले झोली?

3

व्यस्त जीवन

चैन के कुछ छिन

माँगे ये मन ।

-0

कमला नया फोटो5- कमला निखुर्पा

1

साँवली रात

सितारों का आँचल

चन्दा बिंदिया ।

-0-

6-नमिता राकेश

11-नमिता राकेश

1

कहेगा  कथा

भीगा -भीगा तकिया 

होगी सुबह

-0-

7-हरकीरत हीर

3-HARKIRAT HEER 1

टूटा है धागा

रिश्तों के बन्धन का

निभाऊँ कैसे?

2

टूटे तारे से

बस यही मुराद

छूटे न साथ।

-0-

8-रामेश्वर काम्बोज हिमांशु

1

दर्द की नदी

पार करते बीती

पूरी ही सदी ।

2

मन की माला

भावों के मोती गूँथी,

छोड़ें न साथ।

-0-

Advertisements

Responses

  1. व्हाट्सअप के सभी हाइकु यहाँ देख अच्छा लगा …

    दर्द की नदी
    पार करते बीती
    पूरी ही सदी ।

    इस हाइकु के लिए आभार क्योंकि ये नदी ब्रह्मपुत्र है

  2. सारे हाइकु बहुमूल्य !
    सब रचनाकारों को शुभकामनाएँ !
    दर्द की नदी
    पार करते बीती
    पूरी ही सदी … अप्रतिम!!

  3. vividh bhaavon par bahut sundar haiku …

    दर्द की नदी , टूटा तारा , भीगा तकिया , साँवली रात , खुशियाँ बोलीं , दृढ़ आत्मविश्वास ,ख़्वाब कांच से और दर्द अकेला ..क्या कहिए ..मोहक भावाभिव्यक्ति !!

  4. सभी हाइकु भावपूर्ण
    य यात्रा यूँ ही चलती रहे ।

  5. भावना सक्सेना के आत्मविश्वास से लबालब हाइकु रचनाओं के साथ-साथ अन्य सभी हाइकु भी बहुत अच्छे हैं, विशेषकर ‘दर्द अकेला’ और ‘दर्द की नदी’ उल्लेखनीय हैं. सभी रचाना कारों को बधाई तथा अभिनन्दन – सुरेन्द्र वर्मा

  6. वाह! आज तो हाइकु का गुलदस्ता मिला जिसमें भिन्न भिन्न हाइकु रूपी पुष्प गुन्थित हैं |
    सभी रचनाकारों को बधाई एवं आभार सम्पादक द्वय |

  7. bahut khoobsurat haiku …dard ki nadi ne vishesh man moha …saath hi tuta taara ,bheega takiya ,saanvlee raat ,khushiyon ki boli ,drir atmvishvaas ,,khvaab kaanch se tatha dard akela …bahut khoob .

  8. Rangbirnge haiku kya baat hai bahut bahut badhai….

  9. सभी हाइकु बेहतरीन !
    आनंदमय हो गया मन ; आप सभी आठ रचनाकारों को को नमन !

  10. bahut sundar hai9ku sabhi rachnakaron ko hardik badhai

  11. यहाँ तो हाइकु की ये बगिया अपनी समस्त सुगंध के साथ मौजूद है…| सभी को हार्दिक बधाई…|

  12. सभी हाइकु एक से बढ़कर एक हैं–हाइकु में कहूँ तो-
    हाइकु सभी,
    पढ़कर हम तो,
    भाव-विभोर.
    आप सभी को हार्दिक बधाई,…

  13. बहुत सुंदर भावो से सजे हाइकु सभी को हार्दिक बधाई


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: