Posted by: डॉ. हरदीप संधु | अप्रैल 5, 2015

दूब


डॉ जेन्नी शबनम

 1

बारहों मास

देती बेशर्त प्यार

दुलारी घास!

2

नर्म-नर्म सी

हरी-हरी ओढ़नी

भूमि ने ओढ़ी !

3

मोती बिखेरे

शबनमी दूब पे,  

रुणोदय !

4

दूब की गोद

यूँ सुखद प्रतीति

ज्यों माँ की गोद !

5

पीली हो गई

मेघ ने मुँह मोड़ा  

दूब बेचारी !

6

धरा से टूटी

ईश के पाँव चढ़ी

पावन दूभी !

7

तमाम रात

रोती रही है दूब

अब भी गीली !

8

नर्म बिछौना

पथिक का सहारा

दूब बेसुध !

9

कभी आसन

कभी बनी भोजन,

कृपालु दूर्वा !

10

ठंड व गर्म

मौसम को झेलती

अड़ी रहती !

11

कर्म पे डटी

कर्तव्यपरायणा,

दूर्वा-जीवन !

-0-

Advertisements

Responses

  1. बहुत ख़ूबसूरत नाज़ुक़ अहसास!

  2. दूब की परिभाषा सुंदर है।बधाई हो जी
    कशमीरी चावला

  3. बहुत सुन्दर हाइकु, जेन्नी जी । बधाई स्वीकार करें ।
    – सौरभ चतुर्वेदी

  4. बारहों मास
    देती बेशर्त प्यार
    दुलारी घास!

    Bhaut achha likha hardik badhai…

  5. apake haiku padh kar aur doob ka nischal prem -bhav sahit nishchhal samarpaN dekh kuchh panktiyan prastut hain- jee rahi durva\ por – por mein le ke\paropakar.
    pushpa mehra.

  6. sbhi sundar haikuon ne hara – hara kr diya

  7. नाचीज़ सी दूर्वा पर इतने सारे सुन्दर हाइकु . अद्भुत .सुरेन्द्र वर्मा

  8. बहुत सुंदर हाइकु…बधाई जेनी जी

  9. bahut khoobsurat haiku .badhai .

  10. मोती बिखेरे
    शबनमी दूब पे,
    अरुणोदय !
    bahut khoob
    badhai aapko
    rachana

  11. दूब पर अनुपम प्रस्तुति जेन्नी जी ! सभी हाइकु बहुत सुन्दर !1

    हार्दिक बधाई !!

  12. बहुत सुन्दर हाइकु…हार्दिक बधाई…|


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: