Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | अप्रैल 4, 2015

आँसू बावला ।


आभा सिंह1-आभा सिंह 

1

हरकारा है

खारे संदेश देता

आँसू बावला

2

टपके टप् टप्

भेद मन का खोले

लड़ी मोती की

3

दुग्ध धवल

होठों पे लरजती

मुस्कान मीठी

4

आँखें बातूनी

होंठ पर खामोशी

यूँ बतियाओ

5

मुँदी पलकें

गीत गुनगुनाएँ

होश खो जाएँ ।

6

उँगली सर्द

हथेली गुनगुनी

काँपी छुअन  

7

नदी के छोर

पानी में घुले  जैसे

चित्र बनाएँ ।

8

हवा की सीटी

बाँसों से टकराए

धुन– सी उठे ।

9

काँपती बूँदें

लरजती कलियाँ

हवा झुलाए

10

गाए पपीहा

मोर ठुमक उठे

हिया हुमके

11

इन्द्रधनुषी

सतरंगी हुलास

छुए आसमाँ

12

झर रहीं हैं

टूटी पीली पत्तियाँ

बेकल वृक्ष ।

-0-

परिचय
आभा ​सिंह
जन्म:6 नवम्बर, 1944
शिक्षा:एम. ए., बी एड.
प्रकाशित कहानी संग्रह:कोने का आकाश ,अब तो सुलग गये गुलमोहर ,परछाइयों के अक्स,अस्तित्व का हठ
युगदाह, आठवें दशक की लघुकथाएँ, राजस्थान की महिला लघुकथाकार, में प्रकाशित।
इसके अतिरिक्त वीणा, कथाबिम्ब, राजस्थान पत्रिका, युगदाह, आदि पत्रिकाओं में प्रकाशित।
पुरस्कार:साहित्य संगम इंदौर की वर्ष 1980 की प्रतियोगिता में लघुकथा ‘अभिशप्ता’ को विशेष पुरस्कार
सम्पर्क:मकान न0 80/173, मध्यम मार्ग, मानसरोवर, जयपुर – 302020

abhasingh1944@gmail.com

 

Advertisements

Responses

  1. सभी हाइकु अति सुंदर ।आभा जी आपको बधाई ।

  2. Aabha ji swagat hai …..

  3. bahut sundar!

  4. प्रिय सखी आभा जी आपकी कविता -कहानी जैसी ही हाइकु की सुवास है जारी रखिएगा …..प्रथम हाइकु बहुत ही खूबसूरत लगा …हार्दिक बधाई !
    बस दूसरे हाइकु की पहली पंक्ति में शायद गलती से 2 अक्षर ज्यादा लग गए हैं !
    टपके टप् टप्
    भेद मन का खोले
    लड़ी मोती की ।
    आपका स्वागत है हाइकु समूह में …..शुभकामनायें !

  5. टपके टप् टप् – में 5 ही वर्ण हैं। प् -वर्ण में कोई स्वर नहीं जुड़ा है । ‘प्’ हलन्त है, इसलिए इसे गिना नहीं जाएगा । हलन्त=हल्+अन्त्। हल् का अर्थ होता है व्यंजन । अत: टप् में केवल ‘ट’ की ही गणना होगी।

  6. स्वागत है आपका !
    सभी हाइकु सुंदर! विशेषकर –
    आँखें बातूनी
    होंठ पर खामोशी
    यूँ बतियाओ । –बहुत अच्छा लगा।
    हार्दिक बधाई आपको !

    ~सादर
    अनिता ललित

  7. आभा जी आप का हार्दिक स्‍वागत है।

  8. Bahut sundar …bahut bahut badhai

  9. sbhi haju man bhaavn haen

  10. मधुर अहसास लिए बहुत सुन्दर हाइकु !

    सादर वंदन-अभिनन्दन आदरणीया !

  11. हमारे हाइकु परिवार में आभा जी का यह पहला कदम ही अपने साथ इतने प्यारे हाइकु ले कर आया है…| हार्दिक स्वागत और बहुत बधाई इन सुन्दर हाइकु के लिए…|

  12. बहुत सुंदर हाइकु रचना के लिए बधाई ।


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: