Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | मार्च 25, 2015

हरसिंगार स्वप्न


1-हरसिंगार

फोटो: अनिता ललित

फोटो: अनिता ललित

1-अनिता ललित

1

राहों में बिछे

हरसिंगार स्वप्न

होके मगन।

2

लाज में डूबा

कहता पारिजात

चुन लो मुझे।

3

झर कर भी

वधू सिंगार बनूँ

अँजुरी भरूँ।

4

खिलती रात

हरसिंगार करे

चाँद से बात।   

5

पात पे झूले

धरा की गोद सोये

शेफाली मोहे।

6

पत्तों पे झूले

धरा-गोद में लेटे

प्राजक्ता हँसे।

-0-

2- मंजु  गुप्ता

1

खिलाते  क्यारी

झरते रातभर

हरसिंगार।

2

झूलें डालों पे

बन बंदनवार

हरसिंगार।

3

रूप जाल में

शोख  हरसिंगार

फाँसे जग को।

4

बिछा के सेज

भू पे हरसिंगार

सजाए  स्वप्न। .

5

हरसिंगार

हर अंग औषध

हरता  रोग ।

6

झरे ये  फूल

नश्वर जीवन का

देते संदेश ।

7

मीठी यादों के

झरे हरसिंगार

मनाकाश  से। 

-0-

 2-कचनार

1-डॉ सरस्वती माथुर 

1

बंदनवार

कचनार फूलों की

मन रंगती ।

2

बतियाती है

कचनार की गंध

मन आँगन ।

3

रेशमी वेणी

 कचनार कली की

 चकित कुंज ।

4

कच्ची कलियाँ

कचनार की लगे

दीप्त लड़ियाँ ।

5

जादुई फूल

नवसूए सी शाखाएँ

कचनार की ।

6

मुस्कराते हैं

अबोध कचनार

मंद बयार ।

-0-

2-सीमा स्मृति

 1

ये कचनार

करे शोख इशारे

लगें हैं प्यारे ।

-0-

3-हरकीरत हीर

1

दूर भगाए

कचनार की छाल

रक्त विकार ।

-0-

3-विविधा

1-डा. सुरेन्द्र वर्मा 

1

अम्बवा फूला

मालिन घर आई

ठसक ‘ठनी  ।

2

निबौली पकी

नीम की बसी गंध

कड़वी मीठी ।

3

रात की रानी

खिली, किसने देखी?

उड़ी सुगंध ।

4

जलाते नहीं

दहकते पलाश

रंग भरते।

5

धता बताता

तप्त परिवेश को

अमलतास  ।

6

पूछा कली से

क्या आ गया बसंत?

वो खिल  गई ।

7

वट, पीपल

डटे हैं गाँव -गाँव

देते हैं छाँव

8

खिली थी कली

कचनार -सुगंध

मंद पवन

9

ढकता बाहें

अपने ही फूलों से

अमलतास                                                                                                                                                 

10

फूलों की सेज

पक्षियों का संगीत

रीझा वसंत ।

-0-

2-अमित अग्रवाल

1

कड़वा नीम

लुटाए हवाओं में

सुगन्ध मीठी

2

छुए आकाश

ज़मीं को दे सुवास

यूकेलिप्टस

3

ख़ुश्बू कोमल

बस नाम की ही है

बेल-पत्थर ।

4

ताकें पखेरू

इतराये अकेली

कच्ची निम्बोली ।

5

वट प्राचीन

शाखें  थामें आकाश

जड़ें ज़मीन ।

6

आम घनेरा

कोयल, ख़ुशबू, छाया

जग बौराया ।

7

तोते, ततैये

लड़कियाँ चटोरी

लाल इमली ।

8

नन्ही चिड़िया

अठखेलियाँ, मौन

सिल्वर-ओक ।

-0-

3-रोहित कुमार ‘हैप्पी’

1

देखे हैं कभी

गूलर पर फूल

अच्छे दिन!!!

2

बोला गुलाब –

माँगो, क्या चाहते हो?

काँटे या फूल!

3

माँगे थे फूल

मिले हमें पर क्यूँ?

काँटे औ‘ धूल!

4

बोता है काँटे

कैसे पाओगे फिर

कली औ‘ फूल?

5

पैरों में शूल

चेहरे पर धूल

पाया है फूल।

6

रात की रानी

खिलती तो थी पर…

वो खुश्बू कहाँ!

7

चंपा, चमेली..

महकती नहीं क्यों?

बदली फिज़ा!

-0-

रोहित कुमार ‘हैप्पी’

संपादक, भारत-दर्शन हिंदी पत्रिका

न्यूज़ीलैंड।

Rohit Kumar ‘Happy’

Editor, Bharat-Darshan,2/156, Universal Drive,Henderson, Waitakere – 0610

Auckland (New Zealand);Ph: (0064) 9 837 7052

Mobile: 021 171 3934

http://www.bharatdarshan.co.nz

 -0-

4-रजनी गंधा

 सुनीता अग्रवाल

1

देता खुशबू

बन रजनीगंधा

ख्याल तुम्हारा ।

2

रात की रानी

छेड़ती सरगम

रात वीरानी ।

3

सोयी दुनिया

देती रही पहरा

रात की रानी ।

4

कंक्रीट वन

उगी कोमल दूर्वा

लौटा जीवन ।

-0-

5-हरकीरत हीर

1

सजा गजरा

महकी रातरानी

बहकी शाम ।

-0-

6-रेनु चन्द्रा

 1

गुलाब मन

महका ये जीवन

शूल भी चुभे ।

-0-

7-हरकीरत हीर

1

मधुमालती

आँगन में मुस्काई

खुशबू लाई ।

-0-

8-गुंजन अग्रवाल

1

प्रेम तुम्हारा

खिली मधुमालती

मन फुलेरा ।

2

मधुमालती

अलि भरें गागर

मधु -सागर ।

-0-

9-कशमीरी लाल चावला

1

बिन सूरज

रोता रहा आकाश

भीगी है दूब ।

-0-

Advertisements

Responses

  1. बहुत सुन्दर है फूलों की बगिया …सभी हाइकु लाजवाब !

    हार्दिक बधाई सभी रचनाकारों को !!

  2. एक से बढ़कर एक! सभी हाइकु बहुत सुंदर!
    सभी रचनाकारों को हार्दिक बधाई !

    ~सादर
    अनिता ललित

  3. sbhi ki abhivyakti laajvaab .

  4. बहुत सुन्दर रचनाएँ ! सभी रचनाकारों का लिखने के लिये और काम्बोज सर का पढ़वाने के लिए हार्दिक धन्यवाद!!

  5. oh khushbudaar post … najro ke saamne najare ghum jaate hai inhe padh kar badhayi sabhi ko 🙂

  6. अति सुन्दर पोस्ट के लिए हार्दिक बधाई ।

  7. रंगबिरंगी
    महकती बगिया
    यह फूलोॆ की

    (धन्यवाद)

  8. बहुत सुन्दर हाइकु…आप सभी को हार्दिक बधाई…|

  9. kya baat hai itne rang eak saath hardik badhai…


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: