Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | मार्च 17, 2015

वाटिका


अमित अग्रवाल

1

फीकी रंगत

उदास इन्तज़ार

है कचनार।

2

हरसिंगारहरसिंगार    

खुशबू  का सफ़र

ज़मीन  तक ।

3

गुलमोहर

दहकता बैसाख

अबुझ प्यास ।

4

अमलतास

गुच्छे गुच्छे महक

मीठी कसक ।

5

सुर्ख पलाश

वीरान पहाड़ियाँ

दिल में आग ।

6

बेला चमेली

ख़ुशबू के जंगल     

जागती रात ।

7

रजनीगन्धा

साकार है खामोशी

रंगबू की ।

8

जपाकुसुम

करती फ़ाश राज़

पंखुरी पाँच ।

9

नीली छतरी

आँखों को दे ठंडक

जैकेरण्डा की  ।

10

सिर झुकाये

दर्द भरी दास्तान

जंगली लिली  ।

-0-

Advertisements

Responses

  1. sundar haiku vishesh kr
    हरसिंगार
    खुशबू का सफ़र
    ज़मीन तक ।
    3
    गुलमोहर
    दहकता बैसाख
    अबुझ प्यास ।

  2. फीकी रंगत
    उदास इन्तज़ार
    है कचनार।
    एक गहरी सी कसक है इस हाइकु में…
    अमलतास
    गुच्छे -गुच्छे महक
    मीठी कसक ।
    बहुत अच्छा प्रयोग..
    बेला चमेली
    ख़ुशबू के जंगल
    जागती रात ।

    अद्भुत ! आपके हाइकु पढ़कर मन को बहुत अच्छा लगा काफी समय बाद फूलों की महक के ये रंग किसी की लेखनी में निखर कर आएँ है आपको मेरी तरफ से हार्दिक शुभकामनाएँ…

  3. वाह! बहुत-बहुत सुंदर हाइकु ! सभी एक से बढ़कर एक हैं!
    हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएँ आपको …अमित अग्रवाल जी !

    ~सादर
    अनिता ललित

  4. हरसिंगार
    खुशबू का सफ़र
    ज़मीन तक ।
    2
    गुलमोहर
    दहकता बैसाख
    अबुझ प्यास ।
    वाह! बहुत-बहुत सुंदर हाइकु !आप को हार्दिक बधाई।

  5. वाह…सभी बहुत सुन्दर…
    सभी पुष्पों के भाव प्रभाव छोड़ते हुए मनभावन
    बधाई अमित अग्रवाल जी को !!

  6. फूलों की भाव भरी दुनिया को साकार करते बेहद ख़ूबसूरत हाइकु …
    ‘फीकी रंगत ‘ , ‘खुशबू का सफ़र ‘ ,’अबुझ प्यास ‘ , ‘दर्द भरी दास्तान’..अनुपम हाइकु !
    अमित अग्रवाल जी को बहुत बहुत बधाई ..शुभ कामनाएँ !!

  7. सभी हाइकु अति सुंदर । अमित जी आपको बधाई ।

  8. जपाकुसुम
    करती फ़ाश राज़
    पंखुरी पाँच ।
    sunder haiku aapko bahut badhai
    rachana

  9. sabhi haiku bahut sunder likhe hain .
    pushpa mehra.

  10. मन की बात ….
    1.
    रजनीगन्धा
    साकार है खामोशी
    रंग-ओ-बू की ।
    2.
    बेला चमेली
    ख़ुशबू के जंगल
    जागती रात ।
    3
    नीली छतरी
    आँखों को दे ठंडक
    जैकेरण्डा की ।

    अमित अग्रवाल भाई सच कहा है किसी ने कि हाइकु बोलते हैं ! यह महिमा हमारे संपादक द्य की है जो बराबर हमारी अभिव्यक्ति को एक सीढी आगे चढाने में प्रयासरत रहते हैं, वो भी निस्वार्थ भाव से !वरना इस स्वार्थ भरे संसार में बहुत से लोग जिनसे हाइकु संसार का क ख ग सीखते हैं उन्ही से कतराने लगते हैं हालांकि ऐसे लोग पानी के बुलबुले से कुछ ही दिन रह पाते हैं साहित्य की दुनिया में !….बहरहाल मैं हरदीप जी व काम्बोइ भाई जी को दिल से धन्यवाद देती हूँ और आभार प्रकट करती हूँ मार्गदर्शन करने के लिए और इस बार तो विशेष धन्यवाद कि उन्होने ख़ुशबुओं का संसार खड़ा कर मन भी सच में महका दिया !
    इंतज़ार है.. हरदीप जी के हाइकुओं का जो हर समय ही फूलों और वनस्पतियों की दुनिया में रहती हैं !

  11. behad khoobsurat haiku ….
    हरसिंगार
    खुशबू का सफ़र
    ज़मीन तक ।
    सिर झुकाये
    दर्द भरी दास्तान
    जंगली लिली ।phoole ke jagat mein pahunchaane ke liye abhaar amit ji…badhai ke saath

  12. I am grateful to the learned editor duo for placing me on their prestigious blog, and thankful to all dear fellow writers for their loving support!

  13. आभारी हूँ विद्वान सम्पादक द्वय का जिन्होंने मुझे अपने उच्च-स्तरीय ब्लॉग पर स्थान दिया, और बहुत-बहुत धन्यवाद करता हूँ सब साथी कवियों का उनके प्रेमपूर्ण उत्साहवर्धन के लिए!

  14. मेरी रचनाओं को अपने बेहतरीन ब्लॉग पर स्थान देने के लिए विद्वान सम्पादक द्वय को धन्यवाद !
    साथी लेखक मित्रों के प्रेमपूर्ण उत्साहवर्धन का आभार!!

  15. बहुत सुन्दर…हार्दिक बधाई स्वीकारें…|


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: