Posted by: डॉ. हरदीप संधु | मार्च 7, 2015

होली के कुछ और रंग


1-सुभाष लखेड़ा

1

मिलिए गले

होली के मौके पर

काम हों भले।

2

होली सो होली

किसी पर न मारें

बातों  की गोली। 

3

होली पे आना

उड़ायेंगे गुलाल

पूछेंगे हाल।

4

मित्रों के  संग

होली का हुड़दंग

भरे उमंग।

-0—

2-सीमा स्‍मृति

 1

है होली आई

फागुनी पुरवाई

ये मस्‍ती छाई।

2

है राधा संग

बरसाने के रंग

कान्‍हा मलंग।

3

ले पिचकारी

मस्‍तानों की टोली

है गाती होली ।

4

हे राधे राधे

रंगों की पहचान

प्रेम राह दे।

5

गुजिया खाई

है भंग रंग लाई

रूठी भौजाई। 

6

जीवन रंग

सखियों तुम संग

मन-तरंग ।

7

भइया संग

बहनों ने सजाए

हाइकु- रंग।

-0-

Advertisements

Responses

  1. Bahut khoob!

  2. स्नेह अपार
    हाइकु की बोछार
    मन के द्वार ।
    सादर –
    रेखा रोहतगी ।

  3. bahut khub!

  4. holi ke rango se sarabor sundar haiku

  5. सुन्दर सन्देश लिए बहुत सुन्दर हाइकु …हार्दिक बधाई !

  6. holi ke rango se srabor sundar rachnaayein …badhaayi

  7. देर से आना हुआ इधर…पर एक बार फिर फागुनी रंग में सराबोर होकर बहुत अच्छा लगा…|
    हार्दिक बधाई…|


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: