Posted by: डॉ. हरदीप संधु | मार्च 5, 2015

होली है यार!


1-कुँअर दिनेश

1

रंग बहार!

फाल्गुन की मस्ती में-

होली है यार!

2

हल्की फुहार-

नभ की पिचकारी!

होली है यार!

3

उड़ी गुबार –

गुलाल की मार से;

होली है यार!

4

हुई बेदार

वसन्त में वसुधा

होली है यार!

5

जीत न हार!

रंगों की होड़ाहोड़ी

होली है यार!

6

रिश्ते सुधार!

अड़ाअड़ी भुला दे!

होली है यार!

7

बांट लो प्यार!

वैर-विद्वेष भुला;

होली है यार!

8

करे दुलार –

फाल्गुन की बयार!

होली है यार!

9

अनंग वार!

जोड़े दिलों के तार!

होली है यार!

10

पुष्प शृंगार !

महक है जादुई!

होली है यार!

11

रंग त्यौहार!

वासंती समाहार!

होली है यार!

12

सोच-विचार!

रंगों का विनिमय –

होली है यार!

-0-

2-रचना श्रीवास्तव

1

लाल तिलक

धरती  ने लगाया

नभ को आज

2

उड़ाए रंग

धरा की  माँग भरे

बावरी हवा

3

उदास थी वो

अब नहीं  रँगेगी

सफ़ेद साड़ी

4

श्वेत आँचल

भीगा था  आँसुओं से

रंग भी उदास

5

 फागुन आया

पत्ते जो  हुए गुलाबी

फूल से लागे

6

छेड़े फूलों को

भाँग पीकर आई

बौराई हवा

7

वर्दी को  रंग

लगाये है सजनी

सीमा पर वो

8

खेलती होली

गोरी लिये हाथों में

उनकी वर्दी

9

फौजी ने खोली

ज्यूँ सजनी की  पाती

रंगो  में भीगा

10

लाए सन्देश

रंग भरे बादल

मेरे उनका

11

रंगों से लिखूँ

कोरी धरा पर मै

नाम उन्हीं का नाम ।

-0-

3-गुंजन अग्रवाल

1

भीगी है चोली

सुलगा तन मन

विरही होली ।

2

होली में लाल

रंग नहायी पिया

खुश्बू तू ख्याल ।

3

भीगी चूनर

ज्यों सुधियाँ बरसी

नयन कोर ।

4

बाँका है छोरा

रंग डाला है मोरा

मुख था गोरा ।

5

हर्षित मन

होली के रंगों संग

भीगता तन ।

6

नेह का रंग

लगाया उबटन

रहता संग

7

राधा तरसी

गोपियों संग खेले

कन्हाई होली ।

8

उड़े गुलाल

 खुशियों की बहार

होली है यार

9

प्रकृति बोली

प्राकृतिक रंगों से

खेल तू होली ।

10

लाख छुपाये

प्रीत के पक्के रंग

 ऐसे है भाये

11

कर न तंग

रंगी कान्हा के रंग

सब बेरंग

12

सुन सहेली

राधा-कृष्ण की होली

 रंग-रंगीली ।

13

मस्ती के रंग

भाँति- भाँति के सखा

होली के संग

14

भीगी है चोली

सुलगा तन- मन

विरही होली ।

15

बाँका है छोरा

रंग डाला है मोरा

मुख था गोरा ।

18

बरखा फाग

बाकी न रह जाए

द्वेष के दाग ।
-0-

4-अनिता

1

रंग चहके

तन मन महके

मेला होली का

2

रूठे जन को

मनाएँ गले लगा

मौका होली का

3

धूम मचाएँ

सब बैर मिटा के

रंग होली का

4

लो आई होली

सतरंगी है चोली

रंगों में घोली  

-0-

Advertisements

Responses

  1. रंग-बिरंगे हाइकु के लिए बधाई…और आप सबको होली की शुभकामनाएँ…

  2. रंगों उमंगों भरे सुन्दर हाइकु ..हार्दिक बधाई !

  3. khoobsurat rangon mein page haiku ..hardik badhai .


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: