Posted by: हरदीप कौर संधु | नवम्बर 28, 2014

यादें सीपियाँ


1-अनिता ललित

1

मन-दीपक

भाव-अँजुरी लिये

अर्पण तुझे। 

2

दो नन्हे दीप

बिटिया की आँखों के

देते हौसला।

3

जाड़े की धूप

नर्म -सा एहसास-

बेटियाँ ख़ास।

4

माँ तो लुटाती

आशीर्वाद-पोटली !

आँसू छिपाती।

5

चाँद झाँकता

झील में छिप कर

मुखड़ा देखे ।

6

सर्दी की धूप

छत पर यादों की

किताब खुली।

7

साँझ की गली

सूरज ने छिड़की 

रोली-रंगोली।

8

यादें सीपियाँ

गहराई में पैठीं

खुलें तो मोती।

9

दिल का दर्द

जब दिल में रहे

नासूर बने।

10

टूटे सपने
पलकों पर  सजें
आँखों में चुभें।

-0-

2-रामेश्वर काम्बोज हिमांशु

1

कहाँ खो गए वे

नेह -भरे ख़त जो

आँसू से सींचे!

2

काँपते हाथों

खोले पुराने ख़त

जीभर चूमे ।

3

शब्द तुम्हारे

खुशबू नहाए थे

किसने छीने !

4

झील से तिरे

ङबङबाते नैन

खूब रुलाते ।

-0-

3- मंजु गुप्ता

1

फूल टेसू के

उपहार बनके

रंग दे गए ।

2

नहीं हो पास

मिलने की है प्यास

मेरे हो खास ।

3

ख्यालों का नूर

दिल में है समाए

महक लाए ।

4

टूटा है रिश्ता

क्या करेगा फरिश्ता

भाग्य का लिखा ।

5

क्यों है गरूर

अच्छा नहीं हजूर

सोचो जरूर ।

6

प्रेम उमंग

झूमे दिल तरंग

चढ़ा है रंग ।

7

तुम बिन मैं

आँसू की नदी बनी

दर्द – सी बही ।

-0-


Responses

  1. rishton aur hriday ki komal bhavnao ko vyakt karte sundar Haiku !

  2. मन को छूते भावपूर्ण हैं सभी हाइकु!

  3. आप सभी ने सर्दी से जुड़े खूबसूसरत हाइकु रचे हैं। अनिता ललित जी , रामेश्वर काम्बोज जी और मंजु गुप्ता जी , आपको हार्दिक बधाई।

  4. शब्द तुम्हारे
    खुशबू नहाए थे
    किसने छीने !
    4
    झील से तिरे
    ङबङबाते नैन
    खूब रुलाते ।
    Bahut gahan bhav liye ye haiku bahut pasand aaye sabhi ke haiku bahut bhavpurn hain sabko meri hardik badhai

  5. शब्द तुम्हारे
    खुशबू नहाए थे
    किसने छीने ! क्या बात ! खुशबू में नहाए शब्द | सुन्दर बिम्ब |

    माँ तो लुटाती
    आशीर्वाद-पोटली !
    आँसू छिपाती। मर्मस्पर्शी |

    ख्यालों का नूर
    दिल में है समाए
    महक लाए । मनभावन |
    आप सब को सुन्दर मनोहारी हाइकु रचना के लिए बधाई |

    शशि पाधा

  6. शब्द तुम्हारे
    खुशबू नहाए थे
    किसने छीने !

    मंजु जी ,भइया और अनिता जी सभी हाइकु मनभावन । आप सभी को हार्दिक बधाई।

  7. दो नन्हें दीप
    बिटिया की आँखो के
    देते हौसला । अनीता जी का यह हाइकु मुझे बहुत पसन्द आया । बेटी की चमकती आँखों की उपमा एक नई उपमा है । आँखों की यह चमक भविष्य की चमक का संकेत है । तभी तो वे हौसला देती हैं । बधाई अनीता जी ।

  8. कहाँ खो गये वे
    नेह भरे ख़त
    हम ने चूमे । हिमांशु जी का यह हाइकु हमें उस युग में लें जाता है , जब पत्र प्यार के दूत थे ।, जैसे मेघ कालिदास के लिए एक दूत था । अब ख़त का स्थान फ़ोन और एसएम एस और वाई फ़ाई ने लें लिया है । ऐसे में ख़त की प्रतीक्षा किसी प्रेमी की प्रतीक्षा से कम नहीं। बधाई कवि वर ।

  9. sabhi haiku man ko chhune vale hain kamboj bhai ji,anita ji va manju ji ko badhai.
    pushpa mehra.

  10. सभी हाइकु अतिसुन्दर… आदरणीय हिमांशु भैया जी एवं मंजू गुप्ता जी।
    विशेषकर –
    कहाँ खो गए वे
    नेह -भरे ख़त जो
    आँसू से सींचे! -भैया जी

    ख्यालों का नूर
    दिल में है समाए
    महक लाए ।-मंजू जी

    मेरे हाइकु को स्थान देने का आभार।
    ~सादर
    अनिता ललित

  11. मेरे हाइकु पसंद करने के लिए आप सभी का हार्दिक आभार।

    ~सादर
    अनिता ललित

  12. यादें सीपियाँ
    गहराई में पैठीं
    खुलें तो मोती।

    तुम बिन मैं
    आँसू की नदी बनी
    दर्द – सी बही ।

    कहाँ खो गए वे
    नेह -भरे ख़त जो
    आँसू से सींचे!

    sabhi haiku sundar ..gahrayi wale ..man ko chhute badhayi ..shubhkamnaye manju ji anita ji kamboj bhaiya ji

  13. टूटे सपने
    पलकों पर सजें
    आँखों में चुभें। hakiikt hae sbhi sudr haaiku .anitaa ji badhaai

    कम्पित हाथों
    खोले हमने ख़त
    जीभर चूमे ।……..schha pyaar men esii hii dashaa ho jaatii hae badhaai bhai himanshu ji

  14. tute sapne………saath hi …..kahan kho gaye vo …tum bin mai..aansu ki nadi…bahut -bahut bhaavpurn v khoobsurat …himanshuji ,anitaji tatha manju ji ko hardik badhai….

  15. वाह एक से बढ़कर एक हाइकु , आप सभी रचनाकारों को हार्दिक बधाई , अनीता जी ,
    काम्बोज भैया , मंजू जी

    2014-11-27 22:57 GMT+05:30 “हिन्दी हाइकु(HINDI HAIKU)-‘हाइकु कविताओं की वेब

  16. बहुत भावपूर्ण हाइकु…हार्दिक बधाई…|


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

श्रेणी

%d bloggers like this: