Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | नवम्बर 27, 2014

चाँद कटारी


हरदीप

दूब

 

 

 

 

 

 

 

Advertisements

Responses

  1. wah doni hi haiga chitr ke sath ekdan sunder lag rahe hain jaese jivit ho gaye ho shabd
    badhai
    rachana

  2. अति सुन्दर हाइगा । डॉ हरदीप सन्धु जी और सुनीता अग्रवाल जी, आप दोनों को हार्दिक बधाई।

  3. बहुत ख़ूबसूरत हाइगा! हरदीप जी, सुनीता जी को बहुत बधाई!

  4. दोनों हाइकु बढ़िया हैं , पर दूसरा अधिक पसन्द आया ।
    रोई दूब
    आंसू पोँछने आई
    स्नेहिल धूप ।
    दूब और धूप के मानवीकरण के साथ यह भी सत्य है कि धूप के निकलने पर दूब पर ओस की बूँद सूख जाती है ।

  5. बहुत सुन्दर हाइगा। हरदीप जी, सुनीता जी …आप दोनों को बधाई !

    ~सादर
    अनिता ललित

  6. चाँद कटारी / आधी खिलती रात / और फिर कटारी का अँधेरा काटना , एकदम नई कल्पना है। हरदीप जी बहुत दिनों बाद आप हिन्दी हाइकु पर आई हैं। सुनीता जी का हाइगा मानस पटल पर छवि छोड़ जाता है।दोनों कलमकारों को बधाई !

  7. आदरणीय काम्बोज भैया ,हरदीप दीदी और सभी साथियों का हार्दिक आभार ..बहुमूल्य प्रतिक्रिया देकर उत्साह बढ़ाने के लिए
    दीदी का हाइगा बहुत सुन्दर सार्थक .. आधी रात को चाँद का खिलना और अँधेरा कम होना अति सुन्दर !

  8. डॉ.हरदीप जी और सुनीता जी को हार्दिक बधाई |रोई जो धूप…..,और चाँद कटारी …बहुत सुंदर मन मोहक हाइगा|

  9. बहुत सुन्दर बिम्ब | बधाई आप दोनों को |

    सस्नेह,
    शशि पाधा

  10. बहुत सुन्‍दर हाइगा आप दोनों को हार्दिक बधाई।

  11. बहुत सुन्दर…बधाई…|


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: