Posted by: डॉ. हरदीप संधु | नवम्बर 26, 2014

प्यार फैलाएँ


1-सुभाष लखेड़ा

1

प्यार फैलाएँ

आप जहाँ भी जाएँ

हँसें हँसाएँ।

2

जहाँ भी रहें,

प्रशंसा के दो शब्द

जरूर कहें।

3

ये घमंड क्यों

फूट जाओगे कभी

बुलबुला ज्यों।

4

अरमाँ मेरे 

सुन्दर सपने हों 

सबके पूरे।

5

शुभकामना 

दुनिया सुखी रहे

रखें भावना।

6

सुखी हो सभी

स्नेह– सूत्र में बंधें

मजा है तभी।

-0-

2-पुष्पा मेहरा

1

 ऊँचे भवन

 झुग्गियों का विस्तार

 बसाए बस्ती ।

  2

 पटरी   घर

 सब्ज़ी-ठेला बिछौना

 नीली छतरी ।

 3

 छोड़ के आए

 अपना घर-बार

 भटके  फिरे ।

 4

 फँसा दामन

 उम्मीद के काँटों में

 अटका रहा ।

   5

 वृद्धा की लाठी

 खोई जो बाज़ार में

 खोया सहारा ।

   6

 तृष्णा का घड़ा

 पूर न पाया कभी

 मन कंगला ।

 -0-

3-प्रवीण राज

1

नीरव नदी

मुस्कुराता चेहरा

अथाह बाढ़

-0-

4-पीयूष कुमार द्विवेदी

1

सर्दी इतनी,

दो मुट्ठी दबाए है,

रंक काँख में।

2

अम्बर रोता,

धरती -अंचल में,

बिखरे आँसू।

3

शर्मीली भोर,

श्वेत चादर तान,

धीरे से आई।

4

काँपते पेड़,

देख सर्दी की छड़ी,

रात हाथ में।

5

यादोँ की कील,

हृदय में चुभती,

आठोँ प्रहर।

-0-

Advertisements

Responses

  1. बहुत उम्दा सृजन बधाई आप सबको

  2. सभी हाइकु अतिसुन्दर। विशेषकर :

    ये घमंड क्यों
    फूट जाओगे कभी
    बुलबुला ज्यों।

    फँसा दामन
    उम्मीद के काँटों में
    अटका रहा ।

    यादोँ की कील,
    हृदय में चुभती,
    आठोँ प्रहर।

    आ. सुभाष लखेड़ा जी, पुष्पा जी, प्रवीण राज जी, पीयूष कुमार द्विवेदी जी आप सभी को बहुत बधाई।

    ~सादर
    अनिता ललित

  3. सुन्दर , सामायिक अर्थपूर्ण हाइकु हैं सभी …घमंड का बुलबुला , तृष्णा का घड़ा , शर्मीली भोर .. बहुत सुन्दर ..हार्दिक बधाई सभी रचनाकारों को !

  4. हर हाइकु कुछ न कुछ मर्म समेटे हुए है खुद में…| अच्छे सृजन के लिए हार्दिक बधाई आप सभी को…|

  5. subhash ji, praveen ji va piyuush ji apake sabhi haiku bahut achhe likhe hain badhai .
    pushpa mehra

  6. हार्दिक आभार संपादक महोदय जी


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: