Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | नवम्बर 15, 2014

धरती के आँगन


1-रचना श्रीवास्तव

1

बचपन जो

अंकुरित न हुआ

किसका दोष ?

2

ओस की बूँद

धरती के आँगन

खेलती गेंद ।

3

काम का बोझ

दर्द से कराहता

बचपन भी ।

4

बच्चों की चाह

उड़ती पतंग- सी

लूटे न कोई

5

मासूम आँखें

भटके गलियों में

ढूँढे सपने ।

6

कूड़ेदान में

कुछ मिले खाने को

बच्चे ढूँढते ।

7

वक़्त की आँधी

खोया है बचपन

वो ढूँढे कहाँ ।

-0-

2-एस डी तिवारी

1

बन्दर आया

पीछे साथ में हो ली

बच्चों की टोली ।

2

दिल चाहता –

‘तू चोर मैं सिपाही’

फिर से खेलें ।

3

हिला दिया था

ताल में ढेला फ़ेंक

पूरे नभ को ।

4

क्रिकेट खेला

पड़ोस वाली चाची

मेरे घर में ।

5

सोनू का छक्का

सलीम की खिड़की

बिना काँच की

-0-

3- नवनीत राय ‘रुचिर’

1

नभ को छुएँ

बिखेरें नित खुश्बू

जग अपना ।

Advertisements

Responses

  1. सभी हाइकु एक से बढ़कर एक ! सभी हाइकु उम्दा है ! हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं !

  2. sabhi haiku manmohak…..hardik badhai.

  3. sundar ,mohak haiku …..bahut bahut badhaii !

  4. सुंदर अभिव्यक्ति सभी की
    बधाई

  5. खोया बचपन, खेलता बचपन , कुछ ढूँढता बचपन …सभी हाइकु सुन्दर !
    सभी को बधाई !

    ~सादर
    अनिता ललित

  6. वक्त की आंधी … बन्दर आया …तथा और भी सभी हाइकु मन को भाये | सभी रचना कारों को हार्दिक बधाई |

  7. कूड़ेदान में
    कुछ मिले खाने को
    बच्चे ढूँढते ।
    बहुत मार्मिक…|

    सोनू का छक्का
    सलीम की खिड़की
    बिना काँच की
    जाने कितनो का बचपन इसमें समाया है…|

    नभ को छुएँ
    बिखेरें नित खुश्बू
    जग अपना ।
    बहुत सुन्दर…|
    आप सभी को हार्दिक बधाई…|


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: