Posted by: डॉ. हरदीप संधु | सितम्बर 18, 2014

सुख तो है पाहुना


1-डॉ.रामनिवास मानव

1

सुख-दु:ख हैं

केवल पर्यटक

आए थे , गए थे ।

2

यही सच्चाई

हैं सुख-दु:ख दोनों

जुड़वाँ भाई ।

3

यही तो रीत

सुख तो है पाहुना

दु:ख ही मीत ।

4

दु:ख पाहुना

कुछ लेकर आया

देकर गया ।

5

रही कौंधती

फिर-फिर बिजली

इच्छा मचली ।

6

सच अकेला

पर झूठ के घर

लगा है मेला ।

7

सच बेहाल

झूठ बहुरूपिया

करे धमाल ।

8

जिसने कहा

सच को सच यहाँ,

उसने सहा ।

9

मानव देह

है मिट्टी का खिलौना

बालू का गेह ।

10

थी हरी-भरी

यौवन की फ़सल

उम्र ने चरी ।

11

विचित्र दौर

है भीतर सन्नाटा

बाहर शोर ।

12

औरों के हित

व्यूह जिसने रचा

स्वयं क्या बचा !

13

जीवन भर

हम रहे ढूँढ़ते

घर में घर ।

14

घर-आँगन

महके जो प्रेम से

क्या वृन्दावन !

-0-

अनुकृति, 706, सैक्टर-13 , हिसार-125005 ( हरियाणा

Advertisements

Responses

  1. बेहतरीन हाइकु ,,,एक से बढकर एक
    बधाई रामनिवास जी

  2. डॉ. रामनिवास जी आपका हिंदी हाइकु पर हार्दिक स्वागत है |सभी हाइकु जीवन की सच्चाई को लेकर लिखे हैं मेरे मन को जिसनेसबसे अधिक छुआ वह है …सच अकेला ……

    शुभकामनाएं सहित
    सविता अग्रवाल “सवि”

  3. झूठ बहुरूपिया/करे धमाल . सुख तो पाहुना/दु:ख ही मीत, सुख दु:ख हैं /केवल पर्यटक – आदि अभिव्यक्तियाँ बहुत मौलिक और संदर हैं. ‘मानव’ जी को बधाई. -सुरेन्द्र वर्मा.

  4. जीवन-दर्शन से ओतप्रोत सभी हाइकु… अतिसुन्दर !
    हार्दिक बधाई आपको !

    ~सादर
    अनिता ललित

  5. उत्कृष्ट गहराई लिए सभी हाइकु
    स्वागत के साथ बधाई .

  6. उम्दा हाइकुओं के लिए आपको बधाई !

  7. Badhai sweekaren acche haiku
    Dr. Kavita Bhatt

  8. जीवन की सत्यता को उजागर करते सभी हाइकु बेहद प्रभावशाली और सुन्दर है.

    जिसने कहा-
    सच को सच यहाँ,
    उसने सहा ।

    रामनिवास मानव जी को हार्दिक बधाई.

  9. घर-आँगन
    महके जो प्रेम से
    क्या वृन्दावन !
    bahut sunder badhai yahan aapka svagat hai
    rachana

  10. सच अकेला
    पर झूठ के घर
    लगा है मेला ।

    जीवन भर
    हम रहे ढूँढ़ते
    घर में घर ।

    शानदार हाइकु । रचनाकार को बधाई !

  11. eak se badhkar eak haiku….ramnivaas ji ko badhai…

  12. सच अकेला
    पर झूठ के घर
    लगा है मेला ।
    कितनी सही बात कही है…सुन्दर हाइकु के लिए बधाई…|


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: