Posted by: डॉ. हरदीप संधु | अगस्त 24, 2014

जीवन का संगीत


1-स्वराज सिंह

2-swaraj1

घर में कन्या

भाषा में व्याकरण

एक ही काम ।

2

सुनना मीत

जीवन का संगीत

बढ़ेगी प्रीत ।

3

देगा सुकून

परिश्रम का फल

खिलेंगे फूल।

4

देते सन्देश

पतझड़ के पेड़

नव जीवन ।

5

नन्हा सा नीम

टूटे रोज़ पत्तियाँ

रुका विकास ।

6

धन की लूट

पढ़ाई लतियाई

सब है छूट ।

7

स्वार्थी शिक्षक

करे बन्दर बाँट

शिक्षा लापता ।

-0-

2मनीषा सक्सेना.-1मनीषा सक्सेना

  1

छोटी चवन्नी

सौगातें ही सौगातें

याद है आती ।

    1

छोटी चवन्नी

सौगातें ही सौगातें

याद है आती ।

2

जिया था धक्क

तार मिला यकायक

ख़ुशी अनेक।

3

खिन्नी लुकाट

रह गए चित्रों में

वहीं मिलेंगे ।

-0-

3-अवधेश तिवारी ‘भावुक ‘      

1

प्यार हमारा tiwari

सहने में सक्षम

दुखों की धारा।

2

कदम रुके

उन्हें पास पाकर

नयन झुके

3

हो के मगन

साथ -साथ चलते

धरा -गगन ।

 4

मन अशांत

कोलाहल से दूर

चाहे एकांत

 -0-

Advertisements

Responses

  1. सभी हाइकु गहरे भाव लिए हैं। आप सभी को बधाई और शुभकामना !

  2. प्यार हमारा

    सहने में सक्षम

    दुखों की धारा।

    बहुत सुंदर हाइकु । बधाई !

  3. माननीय सम्पादक द्वय, डॉ संधु जी एवं श्री काम्बोज जी , मुझे हिंदी हाइकु में सम्मिलित कर उत्साहवर्धन हेतु हार्दिक आभार -अवधेश तिवारी ‘भावुक’

  4. सभी हाइकु अच्छे हैं। आप सभी को शुभकामनाएँ !

    ~सादर

  5. sabhi haiku pyare….naman aapko badhai ke saath .

  6. अलग अलग विषयों पर सभी हाइकु अच्छे लगे…सभी को बधाई…|


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: