Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | अगस्त 13, 2014

दुआएँ


सुभाष लखेड़ा

1

देखा है मैंने

दुआओं का असर

अब क्या डर।

2

आपकी दुआ

हमेशा बनी रहे

दिल ये कहे।

3

मिलें दुआएँ  

हम अपने रास्ते

बढ़ते जाएँ ।

-0-

 

Advertisements

Responses

  1. maa ki duao ko adhar bana kar likhe gaye sabhi haiku uttam hain badhai.
    pushpa mehra.

  2. बहुत सुन्दर !
    सच है! दुआओं में बहुत शक्ति होती है।

    ~सादर
    अनिता ललित

  3. देखा है मैंने
    दुआओं का असर
    अब क्या डर।

    bohot hi sundar haiku….badhai…

  4. बहुत सुन्दर भावुक हाइकु है अनीता जी , सभी अच्छे लगे , हार्दिक बधाई

    2014-08-13 11:53 GMT+05:30 “हिन्दी हाइकु(HINDI HAIKU)-‘हाइकु कविताओं की वेब

  5. सच्चे से हाइकु…बधाई…


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: