Posted by: डॉ. हरदीप संधु | जुलाई 16, 2014

निर्जला व्रत


1-ज्योत्स्ना प्रदीप

1

baadal भरे बादल                            

तोड़ने आए भू का

निर्जला व्रत।

2

आज नभ है

माथा अश्वथामा का

छिनी है मणि ।

3

सूखी टहनी

टूटी और चटकी

आह के संग ।

jaR4

विद्रोही जड़ें

सूखे वृक्ष की आई

भू के ऊपर ।

-0-

2-रेखा रोहतगी

1

बाट जोहती

अँखियाँ सावन की

हुईं सावन ।

rain-clouds-enjoy-water2

आया सावन

प्राणों में जगी आस

बुझेगी प्यास ।

3

सावन-घन

अनगिन प्राणों में

भरें जीवन ।

4

विरही मन

सावन में झुलसे

और तरसे ।

-0-

Advertisements

Responses

  1. ज्योत्स्ना प्रदीप जी और रेखा रोहतगी जी के सभी हाइकु सामयिक और सरस हैं। दोनों रचनाकारों को हार्दिक बधाई।

  2. सावन के मोहक हाइकु । ज्योत्स्ना प्रदीप जी, रेखा रोहतगी जी बधाई ।

  3. भरे बादल
    तोड़ने आए भू का
    निर्जला व्रत।

    Bahut sundar abhivaykti…

  4. bahut badhiya hayku

  5. भरे बादल
    तोड़ने आए भू का
    निर्जला व्रत।

    बाट जोहती
    अँखियाँ सावन की
    हुईं सावन । ……

    bahut sundar haaiku …haardik badhaaii ..jyotsna ji evam Rekha ji

    saadar
    jyotsna sharma

  6. subhashji,krishna ji ,bhawna ji ,savita ji ,jyotsnaji ..aap sabhi ka hridya se aabhaar.

  7. आज नभ है
    माथा अश्वथामा का
    छिनी है मणि ।

    ye haiku to alag hi kalpana hai jyotsna ji…….rekha ji aapne bhi bohot hi sundar haiku likhe hai …..

  8. अब की बार जिस तरह से हर कोई सावन का इंतज़ार करता हुआ व्याकुल हुआ है, उसको इन हाइकु के माध्यम से सजीव कर दिया है…हार्दिक बधाई…|


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: