Posted by: डॉ. हरदीप संधु | जून 15, 2014

पिता की छाया ।


कृष्णा वर्मा
1
छुपाए पीर
रचा समाज ने क्यूँ
पिता गम्भीर ।
2
पिता का पद
त्याग समर्पण की
सीमा ना हद ।
3
पिता है गर्व
संतान तो पिता की
आस्था का सर्ग ।
4
वरदहस्त
करे पथ प्रशस्त
पिता की छाया ।
5
पिता गुमान
बच्चों का आसमान
भरें उड़ान ।
5
पिता सोपान
काँधे पे पग धर
देखें जहान ।
6
गृह अस्तित्व
संयम का भंडार
रिश्तों का सार ।
7
जुदा प्रवृति
जीवन भर खटे
ले ना निवृति ।
8
स्वप्न साकार
पितृ बल पे उड़ें
पंख पसार ।
9
नहीं सिलता
पिता बिन कोई भी
फटा कलेजा ।
-0-

Advertisements

Responses

  1. पिता को समर्पित सभी हाइकु बहुत प्रभावी हैं …
    छुपाए पीर
    रचा समाज ने क्यूँ
    पिता गम्भीर ।……यथार्थ !!

    सुन्दर ,सार्थक प्रस्तुति के लिए हार्दिक बधाई !!

  2. krishna ji pita ko samarpit sabhi haiku marmik,snehsikt,tatha khoobsurat bhi….chupaye peer……..v…..nahi silta pita bin koie bhi….anokhe ,aankhe bhigone wale…naman hai apke pita ko v unki pyari bitiya ki sooch ko…badhai.

  3. हाइकु ७ बहुत ही अच्छा लगा |आपको बधाई |

  4. स्वप्न साकार
    पितृ बल पे उड़ें
    पंख पसार ।
    सभी उत्कृष्ट हैं लेकिन
    यह हाइकु विशेष लगा
    बधाई

  5. सुन्दर हैं सभी पंक्तियाँ, जुदा प्रवृति सबसे अच्छा है. बधाइयाँ आपको

  6. manywar, sabhi haiku dil ko sukUn dete hain. badhAI svIkAren.

  7. sabhi haiku achhe likhe hain .krishna ji apko badhai.
    pushpa mehra .

  8. छुपाए पीर
    रचा समाज ने क्यूँ
    पिता गम्भीर ।

    Bahut gahan…

  9. Bahut sunder Haiku hai Krishna ji..badhai!


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: