Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | मई 16, 2014

शैतान चन्दा


प्रियंका गुप्ता

1

तपता सूर्य

अम्मा की भट्टी जैसा

रोटी न देता ।

2

आँवे-सा सूर्य

धरती पुकारती

रहम कर ।

3

घर में घुसा

दाँतों बीच दातुन

नन्हा सूरज ।

4

शैतान चन्दा

लुकाछिपी खेलता

माने न बात ।

5

अकेली रात

दूर तलक चली

कोई न मिला ।

6

ख़त था भेजा

संदेसे की प्रतीक्षा

चाक कलेजा ।

7

इतने लोग

तन्हाई का आलम

बड़ा मकान ।

8

सच जो बोले

पत्थर उसे मारे

झूठे इंसान ।

Advertisements

Responses

  1. खूबसूरत हाइकु…..बधाई !

  2. priyanka ji aapnko utkrisht haiku likhne ke liye..bahut bahu badhai

  3. सभी हाइकु बहुत सुन्दर !
    हार्दिक बधाई प्रियंका जी !

    ~सादर
    अनिता ललित

  4. आप सभी के इन सुन्दर टिप्पणियों के लिए बहुत बहुत आभार…|

  5. सच जो बोले

    पत्थर उसे मारे

    झूठे इंसान ।
    bahut sunder

  6. विचार गाम्भीर्य लिए बहुत सुन्दर हाइकु ….लेकिन …
    घर में घुसा
    दाँतों बीच दातुन
    नन्हा सूरज ।….प्यारा बिम्ब !!!


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: