Posted by: हरदीप कौर संधु | मार्च 19, 2014

निंदिया की डाली


­­आज आदरणीय रामेश्वर जी का जन्म दिन है। हिन्दी हाइकु परिवार आपको जन्म दिन की बधाई देता है।  आज न जाने क्यों फूलों का गुलदस्ता  या गगन में चमकते सितारों की बात न लिखकर  मेरी कलम कुछ और ही कह रही है। शायद ये वक़्त का तकाज़ा है.…… अब हमें इनसे आगे की बात कहने की ज़रूरत है जहाँ मंज़िल का पता नहीं ,मगर मुस्कराने की पुरानी आदत- सी है।

डॉ हरदीप सन्धु

1

बीती उमर

जिन्दगी का सफर

ढूँढ़े डगर।

2.

सूने नयन

निंदिया की डाली से

तोड़ सपने।

3

खोई डगर

अनजान नगर

ढूँढता दर।

4

माटी का तन

जीवन घोले रंग

मन बरखा।

-0-

 


Responses

  1. आदरणीय काम्बोज भाई को उनके जन्मदिन पर हार्दिक बधाई.
    बहुत अच्छा हाइकु लिखा है हरदीप जी ने. निम्न हाइकु काम्बोज भाई के जीवन पर सटीक उतरता है.

    माटी का तन
    जीवन घोले रंग
    मन बरखा।

    माटी के तन पर जीवन का हर रंग घुलता रहा, और इन रंगों की वर्षा सर्वत्र हो रही है, जो साहित्य के विविध रूपों में है. इन रंगों के कुछ छीटें हम पर भी पड़े और आज हम सभी हिंदी हाइकु से जुड़े. शुभकामनाएँ!

  2. आदरणीय कम्बोज अंकल को जन्मदिन की हार्दिक बधाई…|
    उनके लिए :-
    यूँ ही हमेशा
    खुशियाँ बनी रहें
    आपके संग |

  3. जन्मदिन बहुत बहुत मुबारक हिमांशु भाई
    इस जश्न में हम भी शामिल हैं :

    “आओ मनायेँ
    वर्षगांठ भैया जी
    जश्न का मौका !”

    “वर्षगांठ पे
    खुशियों के फूलों से
    महको भैया l”
    जन्मदिन की ढेरों बधाईयां और मंगलकामनाएं आपको और समस्त परिवार को !

  4. Himanshu bhai ji – Janmdin ki yaad dilane ke liye bahan Hardeep ji ko bahut dhanyavad. Is mubarak mauke par kuchh panktiyan bhent kar rahi hun.
    “bhula den sari
    kanton se bhari rahen
    sahej len suman,
    jeevan- pal
    khushiyon ke dveep ghumen
    jii len sukh ke kshaN.

    Pushpa mehra

  5. आदरणीय भाई हिमांशु जी के जश्न में मैं भी शामिल हो गई

    दुआ करती

    जिएँ सौ साल आप

    खुशियों संग .

    जन्मदिन की हार्दिक बधाई गीत के साथ

    शुभकामनाएँ फूलों की बारिश कराने आ गईं

    खुशियों की नव लड़ियाँ जन्मदिन दीप जलाने आ गईं .

    पलकों पर तारे सजाए
    बहारों की चाँदनी
    बज्म जगमगाने आ गई
    उछाही उमंगी तरंगे
    चार चाँद लगाने आ गईं .

    शुभकामनाएँ फूलों की बारिश कराने आ गईं

    खुशियों की नव लड़ियाँ जन्मदिन रीत निभाने आ गईं .

    स्वागत – सत्कार करने भाई हिमांशु !
    मौसमे गुलों – सी
    दिलों की कलियाँ खिलीं
    हुलासित दीवानगी
    रस्म गुनगुनाने आ गई.

  6. आदरणीय हिमांशु जी ,जन्म दिन की बहुत-बहुत बधाई व अनंत मंगलकामनाएँ ,,,,,हरदीप जी के भावपूर्ण हाइकू की प्रस्तुति अत्यंत सार्थक है ,,,बहुत बहुत साधुवाद हरदीप जी ……

  7. हरदीप जी के सभी हाइकु बहुत भावपूर्ण एवं सार्थक हैं। मेरी तरफ़ से भाई काम्धाबोज जी को बधाई ।

  8. आप सबका हार्दिक आभार ! आपकी शुभकामनाएँ मेरे लिए प्राणवायु हैं। मैं यही कहूँगा- भाव-सुगन्ध / बरसाई सबने । हर्षित मन । रामेश्वर काम्बोज ‘हिमांशु’

  9. आदरणीया हरदीप जी, सभी हाइकु बहुत ही सुन्दर एवं मन को भरमाने वाले हैं !

    आदरणीय भैया जी, एक बार फिर आपको जन्मदिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ ! 🙂
    आपके जीवन-आँगन में सदा ही सुख-समृद्धि महकती रहे, अच्छे स्वास्थ्य की बहार रहे तथा मन की शान्ति की शीतल हवा बहे ! यही हमारी ईश्वर से विनती है !

    ‘मन की छाँव
    स्नेह, आशीर्वाद हो
    फिर क्या बात !’

    ~सादर
    अनिता ललित

  10. आदरणीय भैया एक बार पुनः आपको जन्मदिन की हार्दिक बधाई
    आप जिए हजारो साल और साल के दिन भी हो पचास हजार

    स्नेहिल रिश्ता
    अमित अविरल
    नेह के बंधन

    आपका साथ
    अप्रतिम सौगात
    सर पे हाथ …………। हमें आपके साथ के सिवा कुछ नहीं चाहिए , यहआपका साथ एवं
    आशीर्वाद ही अनमोल है .
    सादर
    शशि पुरवार

    2014-03-19 23:59 GMT+05:30 “हिन्दी हाइकु(HINDI HAIKU)-‘हाइकु कविताओं की वेब

  11. आदरणीय भैया एक बार पुनः आपको जन्मदिन की हार्दिक बधाई
    आप जिए हजारो साल और साल के दिन भी हो पचास हजार

    स्नेहिल रिश्ता
    अमित अविरल
    नेह के बंधन

    आपका साथ
    अप्रतिम सौगात
    सर पे हाथ …………। हमें आपके साथ के सिवा कुछ नहीं चाहिए , यहआपका साथ एवं आशीर्वाद ही अनमोल है .
    सादर
    शशि पुरवार

  12. हरदीप जी के सभी हाइकु बहुत भावपूर्ण हैं।

    शशि जी का हाइकु भी बहुत सुंदर है, और भाई साहब से हम सभी के ऱिश्ते का प्रतीक है –
    स्नेहिल रिश्ता
    अमित अविरल
    नेह के बंधन

    पुनः ढेरों शुभकामनाएँ…सादर

  13. आ भैया जी के जन्म दिवस पर हरदीप जी के बहुत भाव पूर्ण हाइकु !! सुन्दर आयोजन !!! मैं ही लेट-लतीफ़ जाने कहाँ रह गई थी … 🙂
    वास्तव में प्रतिपल भैया जी के सब प्रकार से स्वस्थ ,सुखी ,दीर्घायु और यशस्वी जीवन की कामना करती हूँ |
    सादर
    ज्योत्स्ना शर्मा


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

श्रेणी

%d bloggers like this: