Posted by: डॉ. हरदीप संधु | मार्च 1, 2014

हाइफन का हाइकु विशेषांक


हाइफन

हाइफनसाहित्य , कला एवं संस्कृति की अन्तर्राष्ट्रीय अन्तरानुशासनिक शोध पत्रिका का वर्ष 4 का हिन्दी विशेषांक-2013 बरबस ध्यान खींचता है । मुख्य कारण है 21 हाइकुकारों के चुने हुए 5-5 हाइकु  यानी कुल 105 हाइकु ।  न रचनाकारों की भीड़ न हाइकु का जमघट ।  डॉ कुँवर दिनेश सिंह के सम्पादन  में प्रस्तुत यह अंक हर मायने में भीड़ से हटकर है । कथ्य और प्रस्तुति  दोनों ही दृष्टिकोण से सम्पादक का सौन्दर्यबोध इसकी गरिमा बढ़ाने में सक्षम है । हाइकु क्योंकि काव्य है ,अत: उसे उत्कृष्ट काव्य के निकष पर खरा उतरना चाहिए । लघु कलेवर में ऐसा कुछ ज़रूर होना चाहिए , जो पाठक का ध्यान बरबस अपनी ओर आकर्षित कर सके , उसके हृदय को स्पर्श कर  सके । इस अंक में सभी हाइकु चुने हुए हैं, इनमें  डॉ भगवत शरण अग्रवाल , डॉ सुधा गुप्ता , नलिनीकान्त, नीलमेन्दु सागर , डॉ कुँवर दिनेश सिंह ,डॉ भावना कुँअर,  डॉ कुँअर बेचैन, डॉ हरदीप कौर सन्धु ,सुदर्शन रत्नाकर ,रचना श्रीवास्तव, तुहिना रंजन, कमला निखुर्पा, डॉ गोपाल बाबू शर्मा, प्रियंका गुप्ता ,्सुभाष नीरव डॉ अनीता कपूर, कृष्णा वर्मा , जया नर्गिस  आदि के हाइकु  सहज ही प्रभावित करते हैं। हाइकु-प्रेमियों को ऐसी उत्कृष्ट पत्रिका से जुड़ना चाहिए ।

  नीचे दिए गए लिंक  हाइफन पर क्लिक करके पूरी पत्रिका पढ़ी जा सकती है।हाइफन

सम्पादक द्वय

Advertisements

Responses

  1. हाइफन विश्व साहित्य जगत में शिखर को छुए .

    सम्पादक जी व रचनाकारों को बधाई .

  2. सभी रचनाकारों को हार्दिक बधाई साझा करने के लिए आपका तहे दिल से आभार कम्बोज
    जी सन्धु जी . “हाइफन साहित्य , कला एवं संस्कृति की अन्तर्राष्ट्रीय अन्तरानुशासनिक शोध पत्रिका का वर्ष 4 का हिन्दी
    विशेषांक-2013 बरबस ध्यान खींचता है । मुख्य कारण है 21 हाइकुकारों के चुने
    हुए 5-5 हाइकु यानी कुल 105 हाइकु । न रचनाकारों की भीड़ न हाइकु का जमघट ।
    डॉ कुँवर इस सम्पादन के लिए बधाई के पात्र हैं।

  3. hyphen vishav sahitya jagat mein ooncha sthan prapt kare…sabhi rachnakaro ko badhai …Hardeep ji himanshu ji ka hridya se aabhaar

  4. himanshu ji tatha hardip ji ka hriddya se aabhaar

  5. सम्पादक द्वय के सौहार्द से हाइफन के हाइकु विशेषांक को पढ़ने का अवसर मिला |सुन्दर कलेवर में उत्कृष्ट पठनीय सामग्री के साथ वस्तुतः हाइकु जैसी ही सरस , सरल ,संक्षिप्त किन्तु सारगर्भित प्रस्तुति के लिए हार्दिक बधाई एवं बहुत बहुत शुभ कामनाएँ !!!

    सादर
    ज्योत्स्ना शर्मा

  6. हाइफन का अंक पढ़ा । हिन्दी -जगत् की उत्कृष्ट पत्रिका है । वैसे तो सभी के हाइकु अच्छे हैं,पर डॉ भगवत शरण अग्रवाल , डॉ सुधा गुप्ता , नलिनीकान्त, नीलमेन्दु सागर , डॉ कुँवर दिनेश सिंह ,डॉ भावना कुँअर, ,, डॉ हरदीप कौर सन्धु , ,रचना श्रीवास्तव, तुहिना रंजन, कमला निखुर्पा, व प्रियंका गुप्ता के हाइकु विशेष्र रूप से प्रभावित करते हैं। आज ऐसी ही उत्कृष्ट पत्रिकाओं की आवश्यकता है। हार्दिक बधाई !

  7. sahitya jagat men kuch acchha kam hota hai to mn khush hota hai,achha kaam karne vake nishchit rup se badhai ke paatr hain,meri hardik badhai rachnakaron or sampadk ji ko.

  8. आभार और बधाई…|


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: