Posted by: डॉ. हरदीप संधु | जनवरी 27, 2014

मुस्कानों की फसलें


डॉ० भावना कुँअर

1

आजादी मिली

मुस्कानों की फसलें

फूली औ’ फली।

2

मौन– सा छाए

शहीदी कहानियाँ

नानी सुनाए।

3

वीर जो बढ़े

थे पर्वत से अड़े

जान दे लड़े।

-0-

प्रियंका गुप्ता

1

बाहर आई

दरवाज़ा खोल के

नन्ही सी बूँदें ।

2

ज़िद करती

भाई का थामे हाथ

नन्ही-सी परी ।

3

थाम के हाथ

खाई पार कराता

भाई का साथ ।

4

बहना माँगे

ज़िन्दगी भर का हो

भाई का साथ ।

5

पूरी की तूने

एक भूली हुई सी

दुआ थी कोई ।

6

जान न पाई

कब मिल गया यूँ

हमनवा वो ।

7

पहचान लो

राह में मिले गर

फ़रिश्ता कोई ।

8

तू जो मिला है

रब ने पूरी की ज्यों

सारी ही दुआ ।

9

तेरा साथ यूँ

सहरा में भी जैसे

बरसात हो ।

-0-

Advertisements

Responses

  1. भावना कुँवर की पंक्तियाँ मन को छू गईं जब वे लिखती हैं
    आजंादी मिली
    मुस्कानों की फ़सलें
    फूली औ खिलीं ।

  2. प्रियंका गुप्ता का यह हाइकु पसन्द आया
    तेरा साथ यूँ
    सहरा में भी जैसे
    बरसात हो ।
    एक नई उपमा ध्यान खींचती है ।

  3. बहुत गहरे हाइकु …भावना जी और प्रियंका जी हार्दिक बधाई !

  4. सभी हाइकु अति सुन्दर !
    हार्दिक बधाई भावना जी एवं प्रियंका जी !

    ~सादर
    अनिता ललित

  5. भावना जी का यह हाइकु बहुत पसंद आया…

    मौन- सा छाए
    शहीदी कहानियाँ
    नानी सुनाए।

    प्रियंका जी का यह हाइकु बहुत पसंद आया…
    पहचान लो
    राह में मिले गर
    फ़रिश्ता कोई ।

    सभी हाइकु बहुत भावपूर्ण, आप दोनों को बधाई.

  6. भावना जी को उनके सुन्दर हाइकु के लिए बहुत बधाई…और आप सब का शुक्रिया…|


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: