Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | जनवरी 11, 2014

मैं भटकी हिरनी


रेखा रोहतगी

1

तुम दूर हो

खिड़की से झाँकता

आकाश पास ।

2

धरा-गगन

 साथ ही साथ चलें

कभी न मिलें ।

3

मन की व्यथा

जो आँसुओं में बही

कम तो हुई ।

4

मन की व्यथा

मन में जो रही, हुई

मन भर की ।

5

मन-कोठरी

न संगी, न सहेली

पीर अकेली ।

6

रेशमी यादें

जैसे कोमल स्पर्श

नन्हे हाथों का ।

7

यादें जंगल

मैं भटकी हिरनी

निकलूँ  कैसे?

8

धूप-मुस्कान

सूरज-सा मुखड़ा

सूरजमुखी ।

9

गोधूलि वेला

चंदनवर्णी धूल

सौंधी सुगंध ।

          10

कोहरा ओढ़े

सूरज है ग़ायब

भोर ठिठुरे ।

-0-

(शीघ्र प्रकाश्य हाइकु -संग्रह ‘-मन मुखिया ‘ से 

Advertisements

Responses

  1. गोधूलि वेला
    चंदनवर्णी धूल
    सौंधी सुगंध ।

    वाह…साँझ का मनमोहक वर्णन…सभी सु़दर हाइकुओं के लिए रेखा जी को सादर बधाई !!

  2. सभी हाइकु सुन्दर….रेखा जी बधाई !

  3. सभी हाइकु बेहतरीन हैं। रेखा जी आपको बहुत – बहुत बधाई ! मैं भी आपके हाइकु से प्रेरित होकर इतना कहना चाहता हूँ : ” दोनों किनारे / नदी के साथ चलें / मिलते नहीं। “

  4. बहुत सुन्दर हाइकु विशेषकर ये बहुत अच्छे लगे :
    ‘मन की व्यथा
    मन में जो रही, हुई
    मन भर की ।’

    ‘मन-कोठरी
    न संगी, न सहेली
    पीर अकेली ।’

    सुन्दर अभिव्यक्ति के लिए बहुत बधाई आपको !
    ~सादर
    अनिता ललित

  5. bahut sunder haiku rekha ji ……badhai

  6. कोहरा ओढ़े
    सूरज है ग़ायब
    भोर ठिठुरे ।

    sundar haiku Rekha ji …

  7. मन के विभिन्न भावों -अनुभावों को शब्द बद्ध करते हाइकु मन को छू लेते हैं |
    बधाई आपको |

  8. मन-कोठरी
    न संगी, न सहेली
    पीर अकेली ।
    सुन्दर हाइकु..बधाई

  9. मन को अभिव्यक्त करते सुन्दर हाइकु ….

    रेशमी यादें
    जैसे कोमल स्पर्श
    नन्हे हाथों का ।

    यादें जंगल
    मैं भटकी हिरनी
    निकलूँ कैसे?…..भी बहुत अच्छे लगे ..बहुत बधाई आपको !

  10. aadarniy Hardeep jee aur Kamboj jee ka hardik dhanyavaad in haikuon ko aap tak pahuchane ke liye, aapke in shabdon ne mujhe nav varsh ka uphaar de diya aap sabhi ka hardik abhinandan.
    sasneh-
    rekha rohatgi

  11. अति सुंदर


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: