Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | नवम्बर 16, 2013

हरी- भरी हो धरा


 संजय जोशी ‘सजग “

1

किताब तो है ,
फेसबुक खा गई
समय पूरा ।
2

किसान दु:खी
फसले हुई नष्ट
ओले बारिश ।
3

घड़ी का धर्म
देती संदेश हमे-
सतत कर्म ।
4

नीला आकाश
हरी- भरी हो धरा
मिले सुकून  ।
5

कैसा मंज़र
बेकाबू हड़ताल
सम्पति खाक
6

आत्म विश्वास
मजबूत इरादे
छूते गगन
-0-
sanjay.joshi500@gmail.com

 

 

 

 

 

 


Responses

  1. satik – ytharth haaiku

    badhaai

  2. हिंदी हाइकू में अभी आपके हाइकू पढ़े अच्छे लगे बधाई , स्वागत है आपका हमारे
    परिवार में संजय जी

    2013/11/16 “हिन्दी हाइकु(HINDI HAIKU)-‘हाइकु कविताओं की वेब पत्रिका’-2010

  3. manju gupta जी &Shashi Purwar ..जी ..आभार आपका

  4. संदेशप्रद हाइकु…

    घड़ी का धर्म
    देती संदेश हमे-
    सतत कर्म ।

    बधाई संजय जी.

  5. खूबसूरत हाइकू…
    घड़ी का धर्म
    देती संदेश हमे-
    सतत कर्म ।
    एक सार्थक सन्देश देता है ये…| हाइकू परिवार में स्वागत के साथ बहुती बहुत बधाई संजय जी…|


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

श्रेणी

%d bloggers like this: