Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | सितम्बर 18, 2013

बूढ पेडवा


अगस्त 2013 अयन प्रकाशन , 1/20 महरौली 110030 से प्रकाशित ,जिसमें  रचना श्रीवास्तव का यह सम्पादित -संग्रह  इसलिए भी महत्त्वपूर्ण हो गया  हैं ; क्योंकि अनूदित होने पर भी हाइकु के शिल्प को सँजोकर रखा गया है । 542 हाइकु के  अवधी -अनुवाद से सबसे पहले बच्चों के हाइकु दिए जा रहे हैं।-

1-मन के द्वार1-सुप्रीत सन्धु

1
बूढ  पेडवा
से, बाबा कै  झुर्रियाँ
मिलत लागे
  
2

मुस्किल आवे
रौसनी कै  मिनार

बनत माई 

-0-

2 ऐश्वर्या कुँअर

1

बरखा आवै

सागर मा नहावै

ई ड़ूबै जाये

-0-

3 -ईशा रोहतगी

1

आवत -जात

दुखवा अउर सुख

ईहे जिन्नगी

-0-

4-अन्वीक्षा श्रीवास्तव

1

आपन  पंख

तितली फहरावै

आकास रंगे ।

2

फूल जैसन

अकसवा खिलत

मनवा खुस ।

-0-

5-इला कुलकर्णी

माई रोवत

तुहें याद कैई के

हमहू रोई ।

2

माई बनाई

तोहरे खातिर खीर

चाउर वाली

-0-

 

Advertisements

Responses

  1. बच्चों के हाइकु बहुत सुन्दर – बहुत प्रिय लगे। सभी बच्चों बधाई देते हुए मैं यही कहना चाहता हूँ,” कल की शान / बनोगे तुम सब / ये वरदान ।”

  2. बच्चों! आपकी तरह ही बहुत प्यारे हाइकु! ईश्वर इसी तरह आपकी लेखनी को समृद्ध बनाए रखे! 🙂

    ढेर सारा स्नेह व आशीर्वाद!!! 🙂

  3. रचना जी…आपकी मेहनत रंग लाई! पुस्तक प्रकाशन के लिए हार्दिक बधाई! 🙂
    ~सादर!!!

  4. बहुत बहुत बधाई

  5. रचना …… अवधी अनुवाद बहुत ही सुन्दर बन पड़ा है. तुमको एवं समस्त हाइकू परिवार को हार्दिक धन्यवाद जिहोने इन बच्चों का उत्साह वर्धन किया उनको एक मंच प्रदान किया …… इला को इस संग्रह में स्थान देने के लिए हार्दिक आभार मेरी और इला की ओर से !!!

  6. haiku ka avdhi mein anuvad aur balakon ke utsha vardhan kar unhe haiku-manch par sthan dene ka bhav dono hi sarahniya hain.rachna ji apko
    badhai
    pushpa mehra.

  7. होनहार बच्चों की मेहनत अवधी में प्रकाशित हुई ,त्रिवेणी – अयन का योगदान सराहनीय है .

    सभी को बधाई .

  8. बहुत लाजवाब हाइकू … आंचलिक टच लिए हुए …

  9. बच्चों के इतने सुंदर हाइकु …वाह ! बधाई और आशीर्वाद बच्चों को …अनेकों शुभकामनोन के साथ !

  10. bachche jo likhte hain kamal ka likhte hain mera ashirvad sabhi bachchon
    aap sabhi ka bahut bahut dhnyavad .
    rachana

  11. wahh uttam karya ..bachcho ke haikuz itne sundar bane hai ki lagta nhi ye bachcho ne likha ..sabhi ko haardik badhayi 🙂

  12. बड़े प्यारे हैं बच्चों के हाइकु…उनके अवधी अनुवाद गज़ब खूबसूरत लग रहे हैं…रचना जी को बधाई…बच्चों को शुभकामनाएँ !!

  13. बहुत सुन्दर प्रस्तुति ….क्या कहूँ ….:)

    नन्हीं कलियाँ
    रचना ने संवारी
    खिलीं महकीं ….सुन्दर मधुर भावों का बहुत सुन्दर अनुवाद …..बच्चियों को और रचना जी को हार्दिक बधाई …शुभ कामनाएं !!

  14. अप्रतिम…बहुत भाए सभी हाइकू…सभी बच्चों और रचना जी को बहुत बधाई और शुभकामनाएं…|


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: