Posted by: हरदीप कौर संधु | जून 10, 2013

तपे भूखंड


 


सुशीला शिवराण  

1
सूर्य प्रचंड
दग्ध अग्नि का कुंड
तपे भूखंड।
2
जेठ निष्ठुर
उठते बवंडर
जलूँ, न जल।
3
तिड़की धरा
सूर्य-प्रकोप देख
किसान डरा।
4
लू  तेरे बाण
नित हरते प्राण
मेघा ही त्राण।
5
वीरान रास्ते
साँस रोके खड़े हैं
दरख्त सारे।
6
नीर-तलैया
ढूँढ़
रहे हैं प्राणी
पेड़ की छैंया।
7.
मेघा न आए
सूखे कुँए, बावड़ी
रवि तपाए।
8.
घर के छज्जे
जल का पात्र देख
पंछी हरषें।
9
कारी बदरी
उमड़-घुमड़ आ
बाट गहरी ।
10
चली पुरवा
लाई है संदेसवा
पी बिदेसवा।
-0-

 

 

 


Responses

  1. Sabhi Haiku Sunder!
    घर के छज्जे
    जल का पात्र देख
    पंछी हरषें।
    Wah…. Sushila ji ….Shubhkaamnaayen !

  2. ग्रीष्म के प्रचंड रूप को साकार करते सुन्दर हाइकु …
    कारी बदरी
    उमड़-घुमड़ आ
    बाट गहरी ।…पुकार सुनकर यहाँ तो बरस गई बदरिया
    बहुत सुन्दर …सुशीला जी

  3. शोख रंग भी
    उदास लगते हैं
    तुमसे दूर .- -नित्यानंद `तुषार`
    बहुत सुन्दर है, आपकी ये हाइकू पत्रिका, निरतर चलती रहे ..नित्यानंद `तुषार`

  4. घर के छज्जे
    जल का पात्र देख
    पंछी हरषें।
    बहुत सुन्दर बात कही है …
    सार्थक सुन्दर हाइकु ….सुशीला जी …

  5. आपके पधारने का बहुत-बहुत आभार नित्यानन्द तुषार जी !!

  6. आपकी बहुमूल्य प्रतिक्रिया के लिए आभार Dr Saraswati Mathur ji, jyotsna sharma ji, nityanand tushar ji aur @अनुपमा त्रिपाठी जी।स

  7. चली पुरवा
    लाई है संदेसवा
    पी बिदेसवा।…सार्थक सुन्दर हाइकु ….सुशीला जी …

  8. एक से सुन्दर दूसरा.. सारे मोती बेजोड़.. !

    ये गजब लगा मुझे..

    लू तेरे बाण
    नित हरते प्राण
    मेघा ही त्राण।


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

श्रेणी

%d bloggers like this: