Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | फ़रवरी 8, 2013

जख्मी मासूम


स्त्री की कोख से जन्म लेने वाला पुरुष स्त्री को ही क्यों अपमानित करता आ रहा है ? स्त्री के लिए सम्मान की भावना कहाँ लुप्त हो गई ? ये समाज कब बदलेगा ? बस यही सवाल मैं आज आप सबसे पूछना चाहता हूँ ।

 

1

न महफूज़ 

इज्जत बेटियों की  

मेरे देश में 

2

जख्मी मासूम 

क्रूरता का तांडव 

मौन थे सब 

3

झेलती रहीं 

द्रौपदी से दामिनी 

वही वेदना 

4

हुआ है अस्त 

सभ्यता का सूरज 

कैसा समाज 

5

अब तो जागो 

बदलो समाज को 

पहले सोच  

 

वरिन्दरजीत सिंह बराड़ 

 


Responses

  1. अर्थपूर्ण हाईकु…
    ~सादर!!!

  2. kash ke log ab bhi hosh me aajayen
    bahut sunder haiku
    rachana

  3. Samayik Haiku…dharatal par bahut kuchh karne kee jaroorat..sahitya ko bhee is disha men modna hoga taaki log jaagen !

  4. झेलती रहीं

    द्रौपदी से दामिनी

    वही वेदना

    सार्थक, सामयिक भाव| बधाईआपको |
    अब तो सब को कलम उठाने पड़ेगी |
    शशि पाधा

  5. अब तो जागो

    बदलो समाज को

    पहले सोच …..सार्थक हाईकु

  6. सारपूर्ण हाइकु…आपको बधाई।

  7. झेलती रहीं

    द्रौपदी से दामिनी

    वही वेदना…
    बिलकुल सही…

  8. झेलती रहीं
    द्रौपदी से दामिनी
    वही वेदना
    वास्‍तविक्‍ता से जुडे हाइकु । बहुत सारपूर्ण । आप को बधाई।

  9. kadve sach ko ujagar karte haiku….

  10. Bahut hi marmik, dil ko chote hue shabdon ke teer…


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

श्रेणी

%d bloggers like this: