Posted by: रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' | नवम्बर 22, 2012

बिटिया


1-सीमा स्‍मृति

1.

कभी गुस्‍साई,

रूठी,चहकी,हँसी

 बेटी है आई ।

2.

घर आँगन

पायल की खनक

ये छन -छन ।

3.

सुने कहानी

ये परियों की रानी

बाबा– जुबानी।

4

मेंहदी -सजे

वो नन्‍हें -नन्‍हें हाथ

प्यारे त्योहार

5.

हवा से हल्‍की

उसकी वो मुस्‍कान

मिटे थकान।

6.

माँ की है सखी

बनी पिता की मीत,

भाई की प्रीत।

7.

फूलों- सी पली

दूजे घर है चली

खिले बगिया।

8.

घर की शोभा

ससुराल की शान

ये पहचान।

9.

हिये में शूल

छोड़ चली अँगना

नैनों का नूर !

-0-

2-वरिन्दरजीत सिंह बराड़

1.

बच्चे हैं खुदा 

वो इन्सान नहीं जो  

खुदा को मारे ।

 

2.

नन्ही मलाला 

चाहत है पढ़ना  

हुआ हमला  

 

3.

लिखी सचाई 

जब चली कलम  

 डरे आतंकी 

4.

बालिका शिक्षा 

‘गर चाहो -पनपे 

बनो मलाला  

 

5.

मारेगा कौन ?

है मलाला के  साथ  

खुदा का हाथ 

6.

लोगों की दुआ  

दी आतंक को मात 

ये सच्ची जीत  

-0-


Responses

  1. bahut sundar haiku ….badhai Seema ji aur Varinder jit ji……!!

  2. SEEMA YOU ARE UNBEATABLE. I HAVE NO WORDS FOR YOU DEAR AND I FEEL PROUD OF BEING YOUR FRIEND.

  3. हकीकत के धरातल पर लिखे मार्मिक हाइकु सीमा जी और वरिन्द्रजीत जी को बधाई .

  4. सभी हाइकु बहुत सुन्दर।
    सीमा जी, वरिन्दरजीत जी बधाई।

  5. मारेगा कौन ?

    है मलाला के साथ

    खुदा का हाथ …..bahut sach kahaa aapne ..badhaai..

  6. हवा से हल्‍की

    उसकी वो मुस्‍कान

    मिटे थकान

    बहुत प्यारा भाव है
    ——–
    मारेगा कौन ?

    है मलाला के साथ

    खुदा का हाथ —-असीम विशवास |

    सभी हाइकु सुन्दर | बधाई सीमा जी और वरिन्द्रजीत जी को

  7. बहुत सुन्दर हाइकु हैं…। बेटियाँ सच में ईश्वर का वरदान होती हैं, पर अब भी कई लोग इस सच्चाई से मुँह मोड़े हैं…। इन प्यारे हाइकुओं के लिए आप दोनो को बधाई…।

  8. कभी गुस्‍साई,

    रूठी,चहकी,हँसी

    बेटी है आई

    क्या बात है सीमा जी बहुत ही प्यारे हाइकु लिखे हैं …..

    बच्चे हैं खुदा

    वो इन्सान नहीं जो

    खुदा को मारे

    वरिन्ददर जी बहुत गहरी बात कह दी …..

    बधाई आपको इतनी सुंदर रचनाओं की आवर्ती के लिए ….!!

  9. beti par haiku bahut accha lage , sandhu ji ,kamboj ji ek baar aapne vishaye diya tha aapse anurodh hai ki har baar koi vishaye den jisase kalam ki dhar ham aur badha saken . shashi purwar


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

श्रेणी

%d bloggers like this: