Posted by: हरदीप कौर संधु | अक्टूबर 21, 2012

बेवफ़ा लोग


श्याम सुन्दर अग्रवाल

1

फाइल खुली

पढ़ीं तेरी चिट्ठियाँ

रोया था मन ।

2

दूध-चाँदनी

पड़ी कमल पर

तू याद आई 

3

घड़ी पुरानी

नहीं वक्त बताती

बातें करती 

4

लिखा जो खत

तुम्हें पहुँचे कैसे ?

पता नहीं है 

5

पीछा न छोड़ें

तेरी मधुर यादें

सपनों में भी 

6

याद आते हैं

कभी-कभी ही सही

बेवफ़ा लोग ।

7

टूटी कलम

लिखे यादों की दास्ताँ

बिन स्याही के 

8

छिड़े जब भी

चर्चा बेवफाई की

तू याद आए ।

9

बहते आँसू

तेरे दिए दर्द की

कहें दास्तान 

10

पत्रिका खोली

प्रत्येक पन्ने पर

तेरा ही नाम

11

दिल जो टूटा

बिखरा सब कुछ

बिन आवाज़

-0-


Responses

  1. सुंदर हाइकू यादों की दास्तान के .
    बधाई.

  2. यादों पर सभी हाइकु भावपूर्ण…
    बधाई !!

  3. यादों से जुड़े सभी हाइकु बहुत सुन्दर।

  4. सभी हाइकु भावपूर्ण हैं ।इसे तो उच्च कोटि का हाइकु कहा जाएगा –
    छिड़े जब भी

    चर्चा बेवफाई की

    तू याद आए ।

  5. यादों को बयान करते सुन्दर हाइकु के लिए बधाई…।

  6. बहुत भावपूर्ण हाइकु ….बधाई ..!!


रचनाओं से सम्बन्धित आपकी सार्थक टिप्पणियों का स्वागत है । ब्लॉग के विषय में कोई जानकारी या सूचना देने या प्राप्त करने के लिए टिप्पणी के स्थान पर पोस्ट न करके इनमें से किसी भी पते पर मेल कर सकते हैं- hindihaiku@ gmail.com अथवा rdkamboj49@gmail.com.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

श्रेणी

%d bloggers like this: